सीनियर एडवोकेट इंदिरा जयसिंह के घर और NGO पर CBI का छापा

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :

सीबीआइ के छापे के बाद घर से निकलते आनंद ग्रोवर


केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो (सीबीआइ) ने आज तड़के सुप्रीम कोर्ट की वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता इंदिरा जयसिंह और उनके पति अधिवक्‍ता आनंद ग्रोवर के दिल्‍ली व मुंबई स्थित घर और दफ्तरों पर छापा मारा है। आरोप है कि इस दंपत्ति का एनजीओ विदेशी अनुदान के उल्‍लंघन में लिप्‍त है।

सुबह पांच बजे इंदिरा जयसिंह के दिल्‍ली स्थित निजामुद्दीन के आवास पर सीबीआइ ने छापा मारा। साथ ही उनके एनजीओ लॉयर्स कलेक्टिव और मुंबई के आवास पर भी सीबीआइ की टीम पहुंची। लॉयर्स कलेक्टिव के खिलाफ सीबीआइ ने विदेशी अनुदान नियमन कानून (एफसीआरए) के उल्‍लंघन का मामला दर्ज किया हुआ है।

सीबीआइ की एफआइआर गृह मंत्रालय की रिपोर्ट पर आधारित है। उसमें सीधे तौर पर जयसिंह का नाम बतौर आरोपी शामिल नहीं है लेकिन मंत्रालय ने उनकी कथित भूमिका के बारे में रिपोर्ट में लिखा था।

थोड़े दिनों पहले ही जयसिंह और ग्रोवर ने एक प्रेस वक्‍तव्‍य जारी करते हुए अपने ऊपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था।

ट्विटर पर बड़ी शख्सियतों ने सीबीआइ की इस कार्रवाई पर नाराज़गी जताते हुए कई ट्वीट किए हैं। सभी प्रतिक्रियाएं नीचे दी जा रही हैं।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।