धनबाद के जज हत्याकांड में CBI का दावा- ऑटो ड्राइवर ने जानबूझकर मारी थी टक्कर!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


कुछ महीनों पहले हुई धनबाद के जज उत्तम आनंद की मौत में सीबीआई ने बड़ा दावा किया है। जांच एजेंसी ने इस मामले में जज की मौत पर हत्या का ठप्पा लगा दिए है। सीबीआई ने झारखंड उच्च न्यायालय को बताया कि न्यायाधीश उत्तम आनंद की हत्या की गई थी और ऑटो चालक ने उन्हें जानबूझकर मारा था।

झारखंड उच्च न्यायालय को सीबीआई ने विस्तृत जांच और फॉरेंसिक रिपोर्ट के अध्ययन के बाद यह जानकारी दी है कि सीबीआई ने मामले की जांच के लिए देशभर से चार अलग फोरेंसिक टीमों को लगाया है। सीबीआई ने दावा किया कि ऑटो चालक ने जज उत्तम आनंद को जानबूझकर मारा था।

अब तक का मामला..

दरअसल, 28 जुलाई को न्यायाधीश उत्तम आनंद मॉर्निंग वॉक पर गए थे उसी दौरान रास्ते में एक ऑटो ने उन्हे कुचल दिया था, जिसके बाद अस्पताल में उत्तम आनंद की मौत हो गई। इस हादसे की सीसीटीवी फुटेज में हत्या का एंगल भी सामने आया था। पुलिस हत्या के एंगल से मामले की जांच कर रही थी। लेकिन जज की मौत के बाद से ही यह सवाल उठ रहे थे की उनका एक्सीडेंट हुआ था या हत्या?

इसका पता लगाने के लिए सरकार ने एसआईटी का गठन भी किया था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए मामले को सीबीआई को सौंप दिया था। हालांकि इस मामले में सीबीआई की सुस्त जांच से भी कोर्ट खुश नहीं था। मामले की पिछली सुनवाई में झारखंड हाईकोर्ट ने सीबीआई की रिपोर्ट पर नाखुशी जाहिर की थी।

कोर्ट ने सीबीआई से अगले हफ्ते रिपोर्ट सौंपने को कहा..

हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच से नाखुशी जताते हुए कहा था कि वह सीबीआई जांच से संतुष्ट नहीं है। जांच की गति और तेज़ करनी होगी। अब तक केवल दो लोगों को ही गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट ने कहा था कि अभी भी कई सवाल ऐसे है जिनका जवाब नही मिला है। इसके बाद गुरुवार को सीबीआई के ज्वाइंट डायरेक्टर को में पेश किया गया है। अब फिर रांची हाईकोर्ट ने सीबीआई से अगले हफ्ते रिपोर्ट सौंपने को कहा है।