JNU: विवेकानंद की मूर्ति के साथ छेड़छाड़, JNUSU ने कहा आंदोलन को भटकाने की कोशिश

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
कैंपस Published On :


जेएनयू में फीस वृद्धि और अन्य मांगों को लेकर छात्रों का आंदोलन अभी थमा नहीं कि परिसर में एक और विवाद खड़ा हो गया। जेएनयू प्रशासनिक भवन के बाहर बनी स्वामी विवेकानंद की मूर्ति को किसी ने क्षति पहुंचाने की कोशिश की और मूर्ति के नीचे आपत्तिजनक बातें भी लिखी।

इस घटना को लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो चुका है किन्तु यह हरकत किसने की इसकी जानकारी अभी नहीं मिली है। हालांकि विवाद के बाद छात्रों ने वहां से लिखा हुआ हटा दिया है। वहां अब छात्र संघ के सदस्‍यों ने दीपक जला दिया है।

जेएनयू छात्रसंघ का कहना है कि ये एक साज़िश है और फ़ीस वृद्धि के मुद्दे से भटकाने की कोशिश है।

जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष एन साई बालाजी का ट्वीट :

नेशनल स्‍टूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया के सनी धीमान ने कहा कि हम इस घटना की निंदा करते हैं। उन्‍होंने बताया कि मूर्ति के साथ किसी ने तोड़फोड़ नहीं की गई है, हां कुछ लोगों ने इसके बेस पर अपशब्‍द लिखा है। मुझे नहीं लगता कि जेएनयू का कोई छात्र ऐसा करेगा। अब हमने इसे साफ कर दिया है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के प्रचार के समय अमित शाह के कोलकाता यात्रा के दौरान कोलकाता के विद्यासागर कॉलेज में विद्यासागर की मूर्ति को भी तोड़ दिया था उपद्रवियों ने। राज्य सरकार ने तब बीजेपी और ABVP पर आरोप लगाया था।

जेएनयू में फिलहाल बड़ी फीस के खिलाफ प्रदर्शन चल रहा है। छात्र विभिन्न चार्ज और नियमों में बदलाव के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं।

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।