लखनऊ: घंटाघर पर बैठी औरतों के ऊपर पुलिस का लाठीचार्ज

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के खिलाफ लखनऊ के घंटाघर पर धरने पर बैठी महिलाओं पर पुलिस लाठीचार्ज की खबर है. खबर के मुताबिक, लखनऊ में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के 5 मामले सामने आने के बाद पुलिस सीएए के खिलाफ घंटाघर पर प्रदर्शन कर रही महिलाओं को हटाने पहुंची थी. महिलाओं ने वहां से हटने से इंकार कर दिया और इस बात पर पुलिस को बल प्रयोग करना पड़ा.

पुलिस ने महिलाओं से कहा कि घंटाघर से केजीएमयू नजदीक है, जहां कोरोना से संक्रमित मरीजों का इलाज चल रहा है. लिहाजा वे धरना ख़त्म कर दें, क्योंकि भीड़भाड़ की वजह से संक्रमण का खतरा है.

लेकिन प्रदर्शनकारी महिलाओं ने पुलिस की एक नहीं सुनी और घंटाघर खाली करने से मना कर दिया. इसके बाद पुलिस ने उन्हें नोटिस थमाया. जिसे महिलाओं ने स्वीकार कर लिया, लेकिन हटने को तैयार नहीं हुई.

आरोप है कि इस दौरान पुलिस ने महिलाओं पर बल प्रयोग किया और महिलाओं के साथ अभद्रता की, महिलाओं के पेट पर लाठी,लात और घूसों से मारा, मौके पर तीन महिलाएं बेहोश और कई महिलाएं अस्पताल में भर्ती हैं.

प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर मंच पर की तोड़ फोड़,महिलाओं के साथ किया अभद्रता,बुजुर्ग महिलाओं तक को पीटने का आरोप लगाया है.


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।