ब्लैक फंगस हो आयुष्मान के दायरे में, निशुल्क लगे इंजेक्शन-प्रियंका गाँधी



ब्लैक फंगस की दवा के लिए भटक रहे हैं मरीज!

इंजेक्शन की उपलब्धता बढाने के लिए सरकार क्या उपाय कर रही है?

 

नई दिल्ली: 4 जून 2021…देश भर में म्यूकोरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) के बढ़ते मामलों एवं इंजेक्शन के लिए गुहार लगाते लोगों की खबरों के बीच कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री से इंजेक्शनों को पर्याप्त मात्रा में एवं निशुल्क उपलब्ध कराए जाने की अपील की है। प्रियंका गांधी ने कहा कि देश भर से लोग म्यूकोरमाइकोसिस के इंजेक्शन के लिए गुहार लगा रहे हैं। इंदौर में एक बेटी की अपने पिता के लिए इंजेक्शन की गुहार और दिल्ली के आर्मी अस्पताल में इंजेक्शन की कमी ने पूरे देश को द्रवित कर दिया। उन्होंने कहा कि जहां एक तरफ म्यूकोर माइकोसिस के मरीजों की संख्या 11000 के ऊपर निकल चुकी है, वहीं इंजेक्शन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं कराए गए हैं। म्यूकोरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) जैसी बीमारी में मृत्यु दर 50% होती है।

प्रियंका गांधी ने केंद्र सरकार की मुस्तैदी पर सवाल उठाते हुए अपनी अपील में कहा कि सरकार म्यूकोरमाइकोसिस को लेकर गंभीर नहीं दिख रही है। प्रियंका गांधी ने लोगों की पीड़ा को उकेरते हुए प्रधानमंत्री से अपनी अपील में म्यूकोरमाइकोसिस के इलाज में आने वाले इंजेक्शन के महंगे दाम का भी मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि इंजेक्शन पर लाखों रुपए का खर्च आ रहा है और म्यूकोरमाइकोसिस का इलाज आयुष्मान के दायरे में भी नहीं आता। प्रियंका गांधी ने इलाज को आयुष्मान के दायरे में लाने व इंजेक्शन निशुल्क उपलब्ध कराए जाने की अपील की है।

प्रियंका गांधी ने कहा कि म्यूकोरमाइकोसिस को महामारी घोषित किया जा चुका है लेकिन 25 मई के बाद से सरकार ने इसके आंकड़े जारी नहीं किए हैं। स्थानीय खबरों के अनुसार म्यूकोरमाइकोसिस के मामले बढ़ते जा रहे हैं और कोरोना की तरह इसके भी आंकड़ें रोज आने चाहिए।

प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री से कहा कि जागरूकता के लिए जनता के बीच सही तथ्य रखने जरूरी हैं। साथ ही साथ प्रधानमंत्री से अपील में प्रियंका गांधी ने म्यूकोरमाइकोसिस से पीड़ित लोगों के परिजनों की पीड़ा कम करने के लिए इंजेक्शन का उत्पादन एवं उपलब्धता बढ़ाने की बात कही है।

 

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।