सत्ता के गुरूर का नंग-धड़ंग प्रदर्शन, जेडीयू एमएलए की ट्रेन में अंतःवस्त्रों की नुमाइश!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


बिहार की सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड के भागलपुर की गोपालपुर विधानसभा सीट से MLA गोपाल मंडल लगातार किसी न किसी विवाद में रहते हैं। लेकिन इस बार गोपाल मंडल सारी हदें पार कर गए हैं। सत्ता की हनक के इस नंगे प्रदर्शन में, गोपाल मंडल पटना से दिल्ली जाते समय रेल में बिना कपड़ों के ही घूमने लगे। इस पर जब ट्रेन के अन्य यात्रियों ने आपत्ति जताई तो विधायक जी मारपीट और धमकी देने पर आमादा हो गए।

बिना कपड़ों के ट्रेन में विधायक

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, पटना से दिल्ली की ओर जा रही तेजस एक्सप्रेस में अचानक से जब सहयात्रियों ने बिहार के विधायक को महज अंतःवस्त्रों में ट्रेन में इधर से उधर जाते देखा तो वे स्तब्ध हो गए। उनके अधिकतर सहयात्रियों को ये पता भी नहीं था कि वे विधायक हैं। इनमें से एक सहयात्री प्रह्लाद पासवान ने इसका विरोध किया। उन्होंने बताया कि एमएलए महोदय अंडरवियर में ट्रेन में घूम रहे थे जिस पर उन्होंने आपत्ति जताई। तब तक उन्हें नहीं पता था कि ये विधायक हैं। लेकिन ऐसा करते ही विधायक गोपाल मंडल आगबबूला हो गए और उनसे झगड़ा करते हुए, उनको जान से मारने की धमकी दे डाली।

जेडीयू विधायक गोपाल मंडल, पहली बार विवाद में नहीं हैं

पूरा मामला और रेलवे का बयान

तेजस राजधानी एक्सप्रेस के A-1 कोच के सीट नंबर 13, 14 और 15 पर एमएलए गोपाल मंडल सफर कर रहे थे और इसी कोच में जहानाबाद के निवासी प्रह्लाद पासवान अपने परिवार के साथ सीट नंबर 22-23 पर यात्रारत थे। ईस्ट सेंट्रल रेलवे के सीपीआरओ ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए बताया है कि जेडीयू MLA गोपाल मंडल गुरुवार को तेजस राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में पटना से नई दिल्ली के सफ़र के दौरान अंडरगारमेंट्स में घूमते दिखे। सहयात्रियों ने विधायक के व्यवहार की शिकायत की, जिसके बाद आरपीएफ और टीटीई ने दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामला शांत करा दिया।

MLA गोपाल मंडल की सफाई

बताया जा रहा है कि सहयात्री ने उनसे शिकायत दर्ज कराई कि ट्रेन में उनकी ही बोगी में कई महिला सहयात्रियों की मौजूदगी में वे सिर्फ अंतःवस्त्र पहन कर, कैसे टहल सकते हैं। इस पर विधायक ने उनसे झगड़ा किया, मारपीट पर आमादा हो गए। विधायक गोपाल मंडल ने सहयात्री को मां-बहन की गालियां देनी शुरू कर दी, मारपीट की कोशिश की और प्रह्लाद ने ये भी आरोप लगाया है कि गोपाल मंडल ने उन्हें गोली मारने की धमकी दी। लेकिन गोपाल मंडल ने इस पर हमेशा की तरह निश्चिंत सफाई दे दी है। उन्होंने बेहद की ही ग़ैरसंजीदा ढंग से, ट्रेन के अंदर अंडरवियर में तस्वीर वायरल होने के बाद – कह दिया, ‘मेरा पेट खराब था। मैं जो बोलता हूं सच बोलता हूं झूठ नहीं बोलता हूं।’

इसके बाद, सहयात्री के आरपीएफ से शिकायत के बाद उनका कोच बदल दिया गया। गोपाल मंडल के कारण, जब ये विवाद और झगड़ा चल रहा था – ट्रेन दिलदारनगर स्टेशन क्रॉस कर रही थी। इस घटना की पुष्टि RPF ने भी की है लेकिन इस बारे में कोई लिखित शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है।

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।