Home ख़बर बिहार-असम में बाढ़ से हाहाकार, हजारों गांव जलमग्न, कई मौतें, हवाई सर्वेक्षण...

बिहार-असम में बाढ़ से हाहाकार, हजारों गांव जलमग्न, कई मौतें, हवाई सर्वेक्षण और वक्तव्य जारी

SHARE

बिहार और असम बाढ़ में जलमग्न है. असम में बाढ़ के कहर से करीब 26 लाख लोग प्रभावित हैं तो बिहार में करीब 18 लाख लोग बाढ़ के चपेट में हैं. बिहार में कई तटबंध टूटने से हालात और बदतर हो गये हैं. बिहार में 4 लोगों की मौत की खबर है. वहीं असम में बाढ़ और भूस्खलन से 12 लोगों की मौत हो चुकी है. 

ऑल इंडिया रेडियो समाचार के मुताबिक पिछले 4 दिनों में बिहार के बाढ़ प्रभावित जिलों में 32 लोगों की मौत हुई हैं.

जबकि बिहार सरकार के जल संसाधन विभाग द्वारा स्थापित बाढ़ नियन्त्रण कक्ष ने 13 जुलाई को तटबंध समाचार जारी कर कहा था कि ‘बिहार के सभी बाढ़ सुरक्षात्मक तटबंध सुरक्षित हैं.’

बिहार के सीतामढ़ी, मुज़फ़्फ़रपुर, पूर्वी चंपारण, अररिया, सुपौल, किशनगंज और शिवहर बाढ़ की चपेट में आ गए हैं.बिहार में कोसी बैराज के सभी 56 गेटों को खोल देने के बाद राज्य में बाढ़ की स्थिति रविवार को और भयावह हो गई है. बिहार की तमाम नदियों में बाढ़ का पानी 600 और गांवों में फैल चुका है.

नेपाल की तमाम नदियां उफान पर हैं. उधर नेपाल में जारी लगातर बारिश के चलते छोड़े गये पानी के कारण कोसी व बागमती सहित प्रमुख नदियों में भयानक उफान हैं. उत्तर बिहार में बाढ़ ने विकराल रूप ले लिया है.देर रात बागमती के पानी के कारण सीतामढ़ी में पटना को नेपाल से जोड़ने वाला महत्‍वपूर्ण पुल टूट गया. उधर, कोसी प्रमंडल में तटबंध के भीतर अचानक पानी के प्रवेश के बाद वहां से लोगों का पलायन शुरू है. सीतामढ़ी, दरभंगा, मधुबनी, चंपारण व किशनगंज सहित जगह-जगह तटबंध टूटे हैं. उत्तर बिहार के सीतामढ़ी और शिवहर के 200 गांव बाढ़ से जूझ रहे हैं.


ख़बरों के मुताबिक,मधुबनी के झंझारपुर में कमला बलान का तटबंध तीन जगहों पर टूट गया है. झंझारपुर के नरुआर, अंधराठाढी के रखवारी गांव के पास पूर्वी तटबंध टूटा है. बागमती में उफान के कारण सीतामढ़ी के मेजरगंज में पटना को सीतामढ़ी से जोड़ने वाली सड़क पर स्थित पुल शनिवार की देर रात बह गया. इस कारण पटना का सीतामढ़ी से सड़क संपर्क टूट गया है. यही सड़क पटना को नेपाल से जोड़ती है.

मुजफ्फरपुर में भी बागमती नदी के जलस्तर में वृद्धि से कटरा के दर्जनों गांवों में पानी प्रवेश कर गया है. सुपौल के 36 गांव विशेष प्रभावित हैं. दरभंगा जिले के तारडीह प्रखंड के ककोढ़ा एवं कैथवार के पास कमला नदी का बायां तटबंध और घनश्यामपुर के कुमरौल के पास दायां तटबंध रविवार की सुबह में टूट गया.

रविवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बाढ़ से प्रभावित इलाकों का सर्वे किया.

इससे पहले रविवार को बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पटना स्थित आवास पर वरिष्‍ठ अधिकारियों के साथ बैठक करके प्रदेश में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की. मुख्‍यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि कि वे सतर्क रहे और 24 घंटे बिहार में बाढ़ के लिए जिम्‍मेदार कारकों पर नजर रखें.
नी‍तीश कुमार ने आपदा प्रबंधन विभाग से कहा है कि राहत कैंप खोले जाने के लिए सभी जरूरी कदम उठाएं ताकि प्रभावित लोगों को शरण दी जा सके. बाद में मुख्‍यमंत्री पांच बाढ़ग्रस्‍त जिलों दरभंगा, मधुबनी, सीतामढ़ी, शिवहर और पूर्वी चंपारण का हवाई सर्वे भी किया. नीतीश ने बचाव और राहत कार्य में तेजी लाने के निर्देश भी दिए.

वहीं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जिम्मेदारी से भागने का आरोप लगाया है.उन्होंने कहा कि चाहे चमकी बुखार हो, सूखा हो या फिर बाढ़ हर घटना के लिए नीतीश कुमारी अपनी जवाबदेही को न मानते हुए प्रकृति को दोष देते हैं.

 

वहीं असम में बाढ़ की वजह से अब तक करीब 12 लोगों की मौत हो चुकी है.
बाढ़ के कारण राज्य के 28 जिलों के 26 लाख 45 हज़ार 533 लोग प्रभावित हुए हैं. नागरिक प्रभावित हुए हैं. बाढ़ के पानी की वजह से लुमडिंग-बदरपुर पर्वतीय खंड में रेल सेवाएं नियंत्रित करनी पड़ीं हैं.

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अनुसार प्रभावित जिलों में धेमाजी, लखीमपुर, बिस्वनाथ, नलबाड़ी, चिरांग, गोलाघाट, माजुली, जोरहाट, डिब्रूगढ़, नगांव, मोरीगांव, कोकराझार, बोंगाईगांव, बक्सा, सोनितपुर, दर्रांग और बारपेटा शामिल हैं. बारपेटा में हालत सबसे ज्‍यादा गंभीर है.

कांग्रेस ने असम बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग को लेकर दिल्ली में संसद परिसर में गांधीजी की प्रतिमा के आगे प्रदर्शन किया है.

बाढ़ के कारण कई इलाक़ों में सरकार द्वारा निर्मित बांध और पुल टूट जाने से स्थिति ज़्यादा गंभीर हो गई है. मुख्यमंत्री सोनोवाल ने एक ट्वीट कर जानकारी देते हुए लिखा है कि केंद्र सरकार ने इस संकट की घड़ी में राज्य की हर संभव मदद करने का भरोसा दिया है.

कांजीरंगा नेशनल पार्क पूरी तरह पानी में डूब गया है. कई जानवर मारे गये हैं.

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.