विश्व बैंक के बाद AIIB ने भी अमरावती विकास परियोजना से खुद को अलग कर लिया

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :

(190217) -- BEIJING, Feb. 17, 2019 (Xinhua) -- Photo taken on Jan. 12, 2018 shows a sign of the Asian Infrastructure Investment Bank (AIIB) in Beijing, capital of China. (Xinhua/Li Xin)


विश्व बैंक के बाद अब चीन की नेतृत्व वाली एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (एआईआईबी) भी आंध्र प्रदेश के अमरावती विकास विकास परियोजना से बाहर हो गया है. बैंक ने इस परियोजना से अपना हाथ पीछे खींच लिया है. एआईआईबी के एक प्रवक्ता लॉरेल ओस्टफील्ड ने मीडिया को यह जानकारी दी कि विश्व बैंक के निर्णय का अनुसरण करते हुए यह फैसला लिया गया है.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने लॉरेल ओस्टफील्ड के हवाले से कहा,“एआईआईबी अब अमरावती सस्टेनेबल इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड इंस्टीट्यूशनल डेवलपमेंट प्रोजेक्ट में निवेश करने पर विचार नहीं कर रहा है.”

अमरावती विकास परियोजना का कुल बजट 71.5 करोड़ डॉलर था जिसमें एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक 20 करोड़ डॉलर देने पर विचार कर रहा था जबकि वर्ल्ड बैंक 30 करोड़ डॉलर देने पर विचार कर रहा था. लेकिन वर्ल्ड बैंक ने भी अभी कुछ दिन पहले इस परियोजना से अपने हाथ खींच लिया था.

स्वाभाविक है कि एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक के इस निर्णय से नर्मदा बचाओ आन्दोलन, नागरिक मंच, और इस प्रोजेक्ट का विरोध कर रहे तमाम कार्यकर्त्ता खुश होंगे. कुछ समय पहले विश्व बैंक द्वारा इस परियोजना से बाहर होने की घोषणा के बाद इन लोगों ने ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा था कि अब उन्हें बाकी प्रायोजकों से उम्मीद है कि वे भी विश्व बैंक का अनुसरण कर इस परियोजना से निकल जायेंगे.

वहीं, विपक्षी टीडीपी ने आरोप लगाया है कि विश्व बैंक ने वाईएसआरसीपी द्वारा दर्ज की गई शिकायतों के कारण विश्व बैंक ने इस परियोजना से अपना हाथ खींच लिया है.


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।