आर्यन खान केस के ज़रिये लखीमपुर की घटना से सफलतापूर्वक ध्यान हटाया गया: सिब्बल

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने शुक्रवार को आरोप लगाया कि आर्यन खान ड्रग केस के ज़रिए सफलतापूर्वक लखीमपुर खीरी की घटना से ध्यान हटाया गया है। बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के 23 वर्षीय बेटे आर्यन खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने तीन अक्तूबर को क्रूज़ पार्टी से गिरफ्तार किया था। वहीं लखीमपुर में हिंसा भी तीन अक्तूबर को हुई थी, जिसके बाद हिंसा के मुख्य आरोपी गृह राज्य मंत्री  अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा को यूपी पुलिस ने शनिवार को चार किसानों की मौत के मामले में गिरफ्तार किया था।

कपिल सिब्बल ने अपने ट्वीट में यह भी आरोप लगाया कि बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के मामले में “निर्दोष साबित होने तक दोषी” टेम्पलेट लागू किया जा रहा है। कपिल सिब्बल ने ट्वीट में लिखा, ”आर्यन खान मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की जांच में नया न्यायशास्त्र सामने आया है। ड्रग्स के उपयोग या कब्जे का कोई सबूत नहीं मिला, फिर भी निर्दोष साबित होने तक दोषी। लखीमपुर खीरी में आशीष मिश्रा मामले से सफलतापूर्वक ध्यान हटाया गया।”

बता दें कि लखीमपुर खीरी की घटना पर दबाव बढ़ाते हुए कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल राहुल गांधी के नेतृत्व में बीते बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिला था। जहां उन्होंने किसानों की ओर से मंत्री की बर्खास्तगी की मांग की थी। राहुल ने कहा था की मृतक के परिवारों का कहना है कि जब तक मंत्री अपने पद से नहीं हटेंगे तब तक निष्पक्ष जांच नहीं हो सकेगी। जिसके बाद राष्ट्रपति ने उन्हें आश्वासन दिया था की वह इस मामले पर सरकार से बात करेंगे। हालांकि अभी तक राष्ट्रपति के बात करने या मंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की कोई खबर सामने नहीं आई है।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।