CMM के आदेश के बाद बच्चे रिहा हुए, अन्य को वकीलों से मिलने की इजाज़त

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के बीच पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गये लोगों की रिहाई संबंधित केस में सुनवाई करते हुए शुक्रवार की रात दिल्ली के एक अदालत ने कहा है कि नावालिकों को पुलिस हिरासत में रखना गैरकानूनी है.

मैजिस्ट्रेट ने दिल्ली पुलिस को आदेश दिया है कि हिरासत में लिए गये लोगों को उनके वकीलों से मिलने दिया जाये और घायलों का उपचार किया जाये.

राजधानी दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के बीच पुलिस ने करीब 40 लोगों को शुक्रवार को हिरासत में लिया.

प्रदर्शनकारी देर रात दिल्ली पुलिस मुख्यालय पर धरने पर बैठ गए. प्रदर्शनकारी हिरासत में लिए गए लोगों को छोड़ने की मांग कर रहे हैं.

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ गुरुवार और शुक्रवार को राजधानी दिल्ली के इंडिया गेट, दिल्ली गेट, दरियागंज, जामा मस्जिद इलाके सहित पूरे देश में व्यापक प्रदर्शन हुआ. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी इंडिया पर प्रदर्शनकारियों को समर्थन देने पहुंची.

प्रियंका ने कहा, “मैं प्रदर्शनकारियों के साथ हूं. नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी गरीबों के खिलाफ हैं. गरीब इससे सबसे अधिक प्रभावित होंगे. दिहाड़ी मजदूर नागरिकता के लिए दस्तावेज कहां से लाएंगे?”