तिकुनिया में किसानों के लिए शहीद स्थल बनाने का ऐलान, देशभर में विसर्जित होंगी अस्थियाँ!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


संयुक्त किसान मोर्चा के मंच से मंगलवार को लखीमपुर खीरी में तिकुनिया हंगामे में मारे गए किसानों के लिए बड़ी घोषणा की गई। हिंसा में मारे गए सभी किसानों की याद में वहां शहीद स्थल बनाया जाएगा और उनकी अस्थियों को पूरे देश में विसर्जित किया जाएगा।

दिल्ली के शिरोमणि सिख गुरुद्वारा कमेटी के लोगों ने कहा है कि वे सभी मृत किसानों की याद में तिकुनिया में जमीन खरीदेंगे और शहीद स्थल का निर्माण करेंगे। कार्यक्रम के दौरान मंच संचालन कर रहे डॉ. दर्शन पाल सिंह ने बताया कि दिल्ली के शिरोमणि सिख गुरुद्वारा कमेटी के लोग भी अंतिम अरदास में शामिल होने आए हैं और उन्होंने ये कहा है। उन्होंने बताया कि शहीदों की अस्थियां पूरे देश की पवित्र नदियों में विसर्जित की जाएंगी।

विसर्जित करने ले लिए लोगों को सौंपे गए अस्थि कलश…

चौधरी राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के दौरान अब तक 750 किसान शहीद हो चुके हैं। इसी सूची में तिकुनिया के शहीद किसानों के नाम भी शामिल होंगे ताकि आने वाली पीढ़ी को उनकी शहादत पर गर्व हो सके। मौके पर सैकड़ों अस्थि कलश भी मौजूद थे। बताया गया कि कार्यक्रम में शामिल होने आए लोग शहीद किसानों की अस्थियां अपने साथ लेकर पूरे देश की पवित्र नदियों में विसर्जित करें। अगर कहीं से किसान नहीं आए हैं तो मोर्चा निर्णय लेकर उन जिलों में विसर्जन करायेगा।

देशव्यापी आंदोलन की भी तैयारी..

वहीं किसानों के देशव्यापी आंदोलन की तैयारियां भी जारी हैं। मंत्री के बेटे पर किसानों की हत्या के आरोप के बाद केंद्रय राज्य मंत्री के इस्तीफे की मांग पर किसान अड़े हुए हैं।राकेश टिकैत ने कहा हैं कि अगर केंद्रीय मंत्री को बर्खास्त कर गिरफ्तारी नहीं हुई तो 15 अक्टूबर को हम देश भर के विभिन्न स्थानों पर प्रधानमंत्री का पुतला दहन करेंगे। 18 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक ट्रेनें रोकी जाएंगी और फिर 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत होगी। सरकार 26 अक्टूबर की बैठक तक नतीजे बताए। हम आंदोलन करेंगे, व्यवस्था में खलल नहीं डालना चाहते।

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।