शहीद सुबोध सिंह के हत्यारोपी को BJP से जुड़े संगठन में पद, परिवार हैरान, विपक्ष हमलावर

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


बुलंदशहर में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या के आरोपी शिखर अग्रवाल को प्रधानमंत्री जनकल्याण योजना का महामंत्री बनाये जाने को लेकर विपक्ष ने बीजेपी पर ज़ोरदार हमला बोला है। प्रियंका गाँधी और अखिलेश यादव ने इसे अपराधियों को योगी राज में मिल रहे सत्ता संरक्षण का नमूना बताया है। प्रियंका गाँधी ने इस सिलसिले में शहीद इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की पत्नी रजनी सिंह का एक वीडियो भी ट्वीट किया है जिसमें वे योगी सरकार पर गंभीर आरोप लगा रही हैं। रजनी सिंह ने कहा है कि सरकार एक नया विकास दुबे पैदा कर रही है।

 

 

वहीं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट करते हुए सरकार पर हमला बोला है।

स्याना के इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की 3 दिसंबर 2018 की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी जब वे चिंगरावठी गाँव में गौहत्या की अफ़वाह पर उपद्रव करने वालों को रोकने की कोशिश कर रहे थे। शिखर अग्रवाल उनकी हत्या में मुख्य आरोपी दर्ज है।

मामला तूल पकड़ते देख बीजेपी बैकफुट पर आयी और शिखर अग्रवाल को जिला महामंत्री पद से हटा दिया गया। यही नहीं पार्टी ने यह भी कहा कि इस संगठन से भी उसका कोई लेना देना नहीं है। हालांकि शिखर अग्रवाल पूर्व में बीजेपी युवा मोर्चा का पदाधिकारी रह चुका है और प्रधानमंत्री जन कल्याणकारी योजना अभियान के लेटर पैड पर भी लिखा है कि यह अभियान केंद्र सरकार द्वारा संचालित है। जिस नियुक्ति पत्र के आधार पर शिखर अग्रवाल महामंत्री बना था उस पर भी प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर है और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू समेत तमाम बीजेपी नेताओं और मंत्रियों का नाम बतौर मार्गदर्शक मंडल दर्ज है।

इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या में 38 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इनमें से जीतू फौजी, शिखर अग्रवाल, हेमू, उपेंद्र सिंह राघव, सौरव और रोहित राघव को अगस्त 2019 में जमानत मिल गयी थी। जब ये जेल से बाहर निकले तो हिंदूवादी संगठन से जुड़े लोगों ने इनका फूल मालाओं से स्वागत किया था। भारत माता की जय, वंदे मातरम और जय श्रीराम के नारे भी लगे थे।



 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।