‘अब्बा जान’: कई धाराओं में मामला दर्ज, विपक्ष, पूर्व आईएएस, बॉलीवुड, सभी के निशाने पर सीएम योगी!

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पिछले दिनों दिए गए ‘अब्बा जान’ वाले बयान पर लोगो ने अब सख्त प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी है। सीएम योगी के इस बयान पर एक खास समुयाय के लोग भड़के हुए है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ बिहार की एक अदालत में शिकायत भी दर्ज कराई गई है। सीएम के इस बयान पर अब बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने भी प्रतिक्रिया दी है। पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने भी सीएम के इस बयान के खिलाफ ट्वीट किए है। कांग्रेस के नेता श्रीनिवास बीवी ने एक ट्वीट के जरिए यूपी के सीएम पर हमला किया है।

दरअसल, यह बयान यूपी के सीएम योगी ने रविवार को अपने भाषण के दौरान यूपी के कुशीनगर में दिया था। जिसमे उन्होंने एक खास समुदाय के लोगो के खिलाफ टिप्पणी की थी। उन्होंने अपने बयान में कहा था कि आप लोगों को अब राशन मिल रहा है। क्या यह साल 2017 से पहले मिलता था? तब अब्बाजान कहने वाले सभी गरीबों का राशन हड़प लेते थे, तब यहां का राशन कहीं और पहुंच जाता था। उनके इस बयान के बाद अब्बा जान ट्रेंड होने लगा और एक मुद्दा बंद गया है।

सीएम का बयान अवमानना जैसा: नसीरुद्दीन शाह

इंडिया टुडे टीवी के कंसल्टिंग एडिटर से बातचीत करते हुए अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा, अब्बा जान पर यूपी के सीएम का बयान अवमानना जैसा है और यह प्रतिक्रिया के लायक भी नहीं है। उस पर प्रतिक्रिया देने का कोई मतलब नहीं है। लेकिन यह सच्चाई है कि अब्बा जान का यह बयान उन नफरत भरे बयानों की एक श्रृंखला है जो वह हमेशा देते रहे हैं। मुझे नहीं पता कि उन्होंने किसके प्रभाव में यह कहा, लेकिन समाज को अलग-थलग करने के लिए ऐसे बयान दिए गए हैं।

अब्बाजान कहकर एक कम्यूनिटी को टारगेट किया:पूर्व आईएएस

वहीं पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह अफसर दो-तीन कर यूपी सरकार पर भड़के हैं। उन्होंने कहा अब्बाजान कहकर एक कम्यूनिटी को टारगेट किया जा रहा है। क्या ये एक सीएम को शोभा देता है? याद रहे,इसी कुर्सी पर जीबी पंत, संपूर्णानंद,सुचेता कृपलानी, सीबी गुप्ता, कमलापति त्रिपाठी,हेमवती नंदन बहुगुणा, चौ.चरण सिंह, वीपी सिंह, एनडी तिवारी जैसे लोग रहे। कुछ भी हो कुर्सी की लाज बची रहनी चाहिए।

वहीं एक अन्य ट्वीट में सूर्य प्रताप सिंह ने कहा, “यूपी में ‘अब्बाजान-ओ-अब्बाजान’ का हश्र ‘दीदी-ओ-ओ’ होगा, देखते रहिए।” पूर्व आईएएस ने एक और ट्वीट कहा, “2 करोड़ रोज़गार का वादा किया था, दे नहीं पाए इसीलिए योगी जी को आगे कर #अब्बाजान जैसे जुमले छोड़ रहे हैं। ये दिन याद रखना। #17 सितंबरबेरोजगार दिवस है।”

श्रीनिवास बीवी ने कहा – योगी जी शायद चैन की नींद सो रहे..

अब्बाजान शब्द पर अपनी प्रक्रिया देते हुए कांग्रेस नेता श्रीनिवास बीवी ने भी योगी सरकार पर निशाना साधते हुए एक वीडियो पोस्ट किया और लिखा, “वर्तमान में जब योगी जी शायद चैन की नींद सो रहे है, फिरोजाबाद में एक डेंगू ग्रस्त बच्ची अपने ‘अब्बू-जान’ के साथ ईलाज की तलाश में है। विज्ञापन के फर्जीवाड़े से कोसों दूर उप्र के अधिकतर जिलों में डेंगू का प्रकोप है और मासूमों को इसकी कीमत चुकानी पड़ रही है।”

आईपीसी की धाराओं के तहत शिकायत दर्ज..

सीएम के इस बयान पर बिहार के मुजफ्फरपुर की समाजसेवी तमन्ना हाशमी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाते हुए मुजफ्फरपुर के सीजेएम कोर्ट में शिकायत दर्ज कराई है. शिकायतकर्ता तमन्ना हाशमी ने आईपीसी की धारा 295, 295ए, 296, 511 के तहत शिकायत दर्ज कराई है।

बयान मुसलमानों को बदनाम करने के लिए दिया गया..

तमन्ना हाशमी ने कहा कि राज्य के एक बड़े संवैधानिक पद पर बैठे सीएम का यह बयान देश को तोड़ने वाला हैै। इससे एक खास धर्म के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची है। शिकायतकर्ता ने कहा कि यह बयान मुसलमानों को बदनाम करने के लिए दिया गया है, जिससे वे खुद को अपमानित महसूस कर रहे हैं, शिकायतकर्ता के मुताबिक वह खुद भी इसी समुदाय से हैं और इस बयान से आहत हैं। बता दें की इस मामले की अगली सुनवाई 21 सितम्बर को निर्धारित की है।

 


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।