Home ख़बर भारतीय जनता युवा मोर्चा का आदमी निकला जामिया में गोली चलाने वाला...

भारतीय जनता युवा मोर्चा का आदमी निकला जामिया में गोली चलाने वाला रामभक्त!

SHARE

नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान गोली चलाने वाला रामभक्त गोपाल भारतीय जनता युवा मोर्चा का कार्यकर्ता है। इस संगठन के पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने तीन दिन पहले ही नारा देकर देश के “गद्दारों” को गोली मारने की बात की थी। 

पत्रकार प्रकाश के रे ने अपनी फेसबुक वॉल पर एक खबर शेयर की है जिसमें रामभक्त को भाजयुमो का कार्कर्ता बताया गया है। इससे पहले दिन में इसे बजरंग दल का नेता बताया जा रहा था।

गुरुवार को दिन में एक शख्स ने जामिया के पास शांतिपूर्ण जुलूस पर फायरिंग की थी जिसमें एक व्यक्ति जख्मी हो गया. घायल हुए छात्र का नाम शादाब है. गोली चलाने वाले ने अपना रामभक्त गोपाल बताया. पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

जब उसने गोली चलाई तब पुलिस उसके ठीक पीछे दस कदम की दूरी पर खड़ी थी. उसने पुलिस वालों के सामने ही फायरिंग की . फिर पुलिस ने धीरे से आकर उसे पकड़ कर गाड़ी में डाल दिया. गोली चलाने के बाद उसने कम से कम तीन बार चीख कर कहा -मेरा नाम रामभक्त गोपाल है.

सवाल है कि दिल्ली में राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू होने के बाद भी वह पुलिस के सामने पिस्तौल लहराता हुआ ठीक पुलिस वालों के सामने से फायरिंग करता है और पुलिस वाले असहाय नज़र आते हैं !

गोली चलाने वाले व्यक्ति ने पिस्टल लहराते हुए कहा, ‘दिल्ली पुलिस जिंदाबाद, जामिया मिलिया मुर्दाबाद.

मौके पर मौजूद छात्रों ने बताया कि पिस्टल लेकर जब वह व्यक्ति भीतर घुसा तब दोनों ओर पुलिस की बेरिकेटिंग लगी हुई थी.

पुलिस कोई तीस मीटर की दूरी पर खड़ी थी, वह हवा में पिस्तौल लहराता हुआ कहता है -“आओ देते है आज़ादी”, मैं राम भक्त गोपाल ..”

 

जामिया से शुरू हुआ मार्च राजघाट की ओर जा रहा था. मार्च गेट नंबर 1 तक पहुंचा ही था.तभी वो शख्स वहां पिस्टल लेकर घुस जाता है.

 

गोली चलाने वाले को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गोली ठीक होली फैमिली से 200 मीटर पीछे चली.

गोली चलाने से पहले इस शख्स ने जामिया छात्रों की रैली में जाते हुए खुद का लाइव भी किया था.

इसका नाम गोपाल है और ग्रेटर नोएडा का रहने वाला है

जामिया से राजघाट की ओर मार्च निकाल रहे छात्रों को पुलिस ने फायरिंग के बाद रोक लिया है. पुलिस उन्हें आगे जाने नहीं दे रही है.

ऐसे में छात्र एक जगह इकट्ठा होकर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं.

इस पूरे घटनाक्रम पर जामिया कार्डिनेशन कमिटी का वक्तव्य आया है.

गौरतलब है कि हाल ही में मोदी कैबिनेट में केन्द्रीय राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक रैली में लोगों से नारा लगवाया था -देश के गद्दारों को ..गोली मारो ..को , उससे पहले बीजेपी उम्मीदवार कपिल मिश्रा ने दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में एक रैली में यही नारा लगाते हुए नजर आया था.

इधर गृह मंत्रालय के निवेदन पर चुनाव आयोग ने दिल्ली पुलिस आयुक्त का कार्यकाल एक महीना बढ़ाने की मंजूरी दे दी है.


 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.