CAA : कांग्रेस ने NHRC को सौंपी UP पुलिस की ज्यादती की रिपोर्ट

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


नागरिकता संधोधन कानून (सीएए) के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों के दौरान प्रदर्शनकारियों पर पुलिसिया दमन के खिलाफ कांग्रेस नेता राहुल, प्रियंका गांधी के साथ अन्य कांग्रेस नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार को राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग पहुंचकर अधिकारियों से मुलाकात की और आयोग को उत्तर प्रदेश पुलिस की कथित ज्यादतियों से संबंधित विस्तृत रिपोर्ट सौंपी.

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उत्तर प्रदेश पुलिस ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले लोगों पर जुल्म ढाए. इस प्रतिनिधिमंडल में राहुल-प्रियंका के साथ यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, यूपी कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष शाहनवाज़ आलम, अभिषेक मनु सिंघवी, जितिन प्रसाद, पीएल पुनिया, राजीव शुक्ला और सलमान खुर्शीद मौजूद थे.

मानवाधिकार आयोग से मुलाकात के बाद अभिषेक सिंघवी ने बताया कि हमने पुलिस ज्यादती की विस्तार से रिपोर्ट दी है. 23 मौतें हुई हैं. इनमें से एक भी एफआईआर पुलिस वालों के खिलाफ नहीं हुई. आंख में छाती में गोलिया़ लगी हैं.

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के साथ मीटिंग में राहुल और प्रियंका गांधी ने कहा लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन संवैधानिक अधिकार है. यूपी और अन्य राज्यों में पुलिस शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर ज्यादती कर रही है उन्हें गिरफ्तार कर रही है.

आयोग को यह भी बताया गया कि प्रदेश में 23 व्यक्तियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शनों को लेकर प्राथमिकी दर्ज की गयी है लेकिन एक भी पुलिसकर्मी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है.

लोगों को गोली लगी है और उन पर चोट के निशान हैं. यहां तक कि प्रशासन को दोषी पुलिसकर्मियों तथा अधिकारियों के नाम भी दिए गये, वीडियो भी है लेकिन प्राथमिकी किसी भी पुलिसकर्मी के विरुद्ध नहीं हुई है.

कांग्रेस नेता ने कहा कि प्रतिनिधि मंडल ने आयोग से इस मामले में आयोग से जल्द से जल्द ठोस कदम उठाने तथा व्यापक कार्रवाई करने की मांग की. उन्होंने उम्मीद जतायी कि आयोग ने जिस तरह से उनकी बात सुनी है और कांग्रेस ने जिन तथ्यों के साथ आयोग को 31 पेज की विस्तृत रिपोर्ट सौंपी है उसे देखते हुए उम्मीद की जाती है कि इस मामले में आयोग जल्द कदम उठाएगा.


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।