ब्याज़-बंगाल-बवाल – गुरूवार की 3 बड़ी ख़बरें

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
ख़बर Published On :


गुरूवार का दिन देश में राजनैतिक हलचल का दिन रहा। दिन शुरू भी राजनैतिक बवाल से हुआ और शाम को बंगाल तक जाते-जाते भी बवाल थमे नहीं बढ़ते चले गए। हमारे शो सवाल में वरिष्ठ पत्रकार उज्ज्वल भट्टाचार्य के साथ, मयंक सक्सेना ने दिन की 3 बड़ी राजनैतिक ख़बरों पर चर्चा की।

निर्मला ताई की ‘ग़लती से मिस्टेक’

इनमें सबसे पहली ख़बर थी, जो कि गुरूवार रात से ही चारों ओर शोर मचाए हुए थी। वो था एक आदेश, जो कि वित्त मंत्रालय से जारी हुआ था। इस आदेश में बचत ख़ातों से लेकर, पीएफ तक की ब्याज़ दरों में कटौती का एलान था। इस आदेश की प्रति सामने आते ही चारों ओर से विरोध होने लगा और तब जाकर केंद्र सरकार को याद आया कि प. बंगाल के चुनावों में इसका प्रतिकूल असर हो सकता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक बार फिर ऐसा बयान दे दिया, जिस पर वो व्यंग्य का पात्र बन गई…उनका ट्वीट आया, ‘’भारत सरकार की लघु बचत योजनाओं की ब्याज दरें उन दरों पर बनी रहेंगी, जो 2020-2021 की अंतिम तिमाही में मौजूद थीं. ओवरसाइट की वजह से जारी आदेश वापस ले लिए जाएंगे.’’ ओवरसाइट यानी कि ग़लती से लिए गए फैसले की बात ज़ाहिर है न किसी को हजम होनी थी, न हुई…और चारों ओर इस फैसले के साथ, निर्मला सीतारमण की भी खिल्ली भी उड़ी और निंदा भी हुई। देखिए हमारी इस पर ख़ास बातचीत…

लेकिन प. बंगाल के चुनावों पर इसका क्या और कैसा असर होगा, ये जानने के लिए देखिए ये दूसरा वीडियो…

 

कर्नाटक – मंत्रीजी ने मॉनीटर की शिकायत की, प्रिंसिपल से..राजनैतिक हंगामा…

दिन की दूसरी बड़ी ख़बर थी कर्नाटक से, जहां एक अलग ही सियासी नाटक चल रहा है। कर्नाटक में राज्य के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री के. एस. ईश्वरप्पा ने अपने ही सीएम पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ये आरोप भी उन्होंने किसी पार्टी या कैबिनेट बैठक में नहीं लगाए हैं, बल्कि सीधे राज्यपाल को चिट्ठी लिख कर लगाए हैं…ईश्वरप्पा ने आरोप लगाया कि बिना उनकी मंजूरी और सहमति के ही उनके मंत्रालय के लिए फैसले लिए जा रहे हैं। उन्होंने नियमों का हवाला देते हुए, एक लंबी चिट्ठी में राज्यपाल से मुख्यमंत्री की शिकायत की है… इस पर भी बात की, मयंक सक्सेना से वरिष्ठ पत्रकार उज्ज्वल भट्टाचार्य ने…

नंदीग्राम में वोटिंग, बंगाल में बवाल

और दिन की तीसरी बड़ी ख़बर थी प. बंगाल से, जहां गुरूवार को दूसरे चरण का मतदान था। शाम 6 बजे तक, प. बंगाल में 30 विधानसभा सीटों पर 80.43% मतदान हुआ। लेकिन सबसे अहम बात ये थी कि इन 30 में से एक सीट थी नंदीग्राम, जहां से राजनैतिक सत्ता में आई ममता बनर्जी, इस बार विधानसभा चुनाव भी लड़ रही थी। उनके सामने हैं, इसी इलाके से सबसे प्रभावशाली नेता और कभी उनके ही सेनापति रहे शुभेंदु अधिकारी – जो भाजपा से इस सीट पर चुनाव लड़ रहे हैं। मतदान का दिन नंदीग्राम में और कई और सीटों पर हंगामे का दिन रहा। ममता बनर्जी इसी सीट के एक पोलिंग बूथ पर घंटों बैठी रही और उन्होंने भाजपा और पीएम समेत चुनाव आयोग पर धांधली के गंभीर आरोप लगाए। तो शुभेंदु अधिकारी के काफ़िले पर हमले की ख़बर भी आई…

भाजपा और तृणमूल कांग्रेस, दोनों की ओर से एक-दूसरे पर ढेरों आरोप लगे…ममता बनर्जी न केवल नंदीग्राम में एक पोलिंग बूथ पर जाकर डट गई…बल्कि उन्होंने, अदालत जाने की बात कह दी और चुनाव आयोग पर सवाल उठाए…उधर पीएम नरेंद्र मोदी रैली करते रहे और ममता बनर्जी के डर जाने की ख़बरें भी उड़ाते रहे… देखिए मयंक सक्सेना के साथ वरिष्ठ पत्रकार, उज्ज्वल भट्टाचार्य की ख़ास बातचीत..

हमारे अन्य वीडियोज़ को देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें और हमारे फेसबुक पेज को लाइक-फॉलो करें।

हमारी आर्थिक मदद के लिए जाएं, हमारे इंस्टामोजो और पेट्रियॉन लिंक पर…


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।