बनारस: गोदौलिया पर घिर गईं अंजना ओम कश्‍यप, जनता ने लगाए ‘’मोदी का दलाल है’’ के नारे

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
मीडिया Published On :


बुधवार को बनारस में प्रियंका गांधी के रोड शो के दौरान दिल्‍ली के टीवी चैनलों के पत्रकार बुरी तरह फंसे। आज तक की अंजना ओम कश्‍यप और एबीपी न्‍यूज़ के अनुभव शुक्‍ला को पब्लिक ने गोदौलिया चौकी के सामने घेर लिया और ‘’मोदी का दलाल है’’ के नारे लगाए।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी बुधवार को बनारस में अपने प्रत्‍याशी अजय राय का प्रचार करने आई थीं। उनका रोड शो देर शाम लंका से निकला और गोदौलिया तक गया। गोदौलिया चौकी के सामने जब अंजना ओम कश्‍यप पीस टु कैमरा करने जा रही थीं कि भारी भीड़ ने उन्‍हें घेर लिया और ‘’मोदी की दलाल है’’ का नारा लगाने लगी।

अंजना को घेरी भीड़ में स्‍थानीय जनता और कुछ कांग्रेसी शामिल थे। ठीक बगल में एबीपी न्‍यूज़ के पत्रकार अनुभव शुक्‍ला माइक लिए खड़े थे लेकिन नारों के बीच वे भी अपना पीटुसी नहीं कर पाए।

अंजना ओम कश्‍यप से खास तौर से बनारस में पक्‍कामहाल के लोग बहुत नाराज़ हैं। दरअसल दो दिन पहले ही उनके एक झूठ का परदाफाश स्‍थानीय लोगों ने किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब बीते 9 मार्च को काशी विश्‍वनाथ कॉरीडोर का लोकार्पण करने बनारस आए थे, उस वक्‍त अंजना ने एक प्रोग्राम किया था जिसमें उन्‍होंने एक मंदिर के पुजारी से बात की थी।

कथित नौजवान पुजारी ने उनके सामने प्रधानमंत्री मोदी की सराहना में खूब जुमले काढ़े और उनके चुनाव जीतने की कामना की। वह पुजारी फर्जी निकला।

मंगलवार को बनारस में एक वीडियो वायरल हुआ है जिसमें उक्‍त मंदिदर के असली पुजारी का बयान स्‍थानीय लोगों ने लिया है जो पिछले 21 साल से मंदिर के पुजारी हैं। उन्‍होंने साफ़ बताया है कि अंजना ने जिससे बात की थी वह नकली पुजारी था। असली पुजारी ने काशी विश्‍वनाथ कॉरीडोर के खिलाफ भी अपनी भावना का इज़हार किया।

इस वीडियो के वायरल होने के बाद से ही लोग आजतक और अंजना से बहुत नाराज़ थे। मौका मिलते ही बुधवार को जनता ने अंजना कश्‍यप को घेर लिया और ‘’मोदी की दलाल है’’ के नारे लगा दिए।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।