‘कोविड ने नहीं, कोविंद ने किया’ शीर्षक पर The Telegraph को PCI का नोटिस

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
मीडिया Published On :


प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआइ) ने मंगलवार को द टेलीग्राफ के संपादक को “पत्रकारीय मानदंडों का उल्लंघन करने” के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया. द टेलीग्राफ ने भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई को राज्यसभा के लिए नामांकित किए जाने पर एक खबर छापी थी. खबर का शीर्षक “कोविड ने नहीं, कोविंद ने किया” दिया था. जिसको लेकर अब पीसीआई ने टेलीग्राफ को कारण बताओ नोटिस जारी किया है.

पीसीआइ अध्यक्ष न्यायमूर्ति चंद्रमौली कुमार प्रसाद ने कहा कि टेलीग्राफ अखबार के 17 मार्च, 2020 संस्करण में राष्ट्रपति के नाम का व्यंगपूर्ण उपयोग किया जोकि सही नहीं है. उन्होंने इस पर नाराजगी जताई. प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया का कहना है कि “देश के प्रथम नागरिक पर व्यंग्यपूर्ण टिप्पणियां, उनका मजाक उड़ाना और उन्हें बदनाम करना निष्पक्ष पत्रकारिता की निशानी नहीं है.

माना जा रहा है कि जस्टिस गोगोई को राम मंदिर मसले पर और राफेल मामले में दिये गए उनके फैसले का सरकार की तरफ से इनाम दिया गया है. जबकि रंजन गोगोई का कहना है कि उन्होंने राज्यसभा का नामांकन इसलिए स्वीकार किया ताकि विधायिका और न्यायपालिका में सामंजस्य बना रहे.


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।