प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ आचार संहिता उल्‍लंघन के मामले की जांच करेगा चुनाव आयोग



कांग्रेस ने मंगलवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मतदान करने से पहले ‘रोड शो’ निकाला और राजनीतिक बयान दिया, जो आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है। इस मामले में काँग्रेस ने चुनाव आयोग से शिकायत कर प्रधानमंत्री के प्रचार अभियान पर 2-3 दिन की पाबंदी लगाने की मांग की थी। आयोग ने इस मामले में गुजरात के चुनाव अधिकारियों को जाँच के आदेश दिए हैं।

गुजरात के मुख्य चुनाव अधिकारी एस.मुरलीकृष्णा के मुताबिक अहमदाबाद जिले के चुनाव अधिकारी को इस मामले की जाँच के आदेश दे दिए गये हैं ।
मंगलवार सुबह प्रधानमंत्री मोदी अपना वोट डालने के लिए अहमदाबाद के रानिप इलाके में एक मतदान केंद्र तक खुली जीप में पहुंचे थे। जीप के गुजरने पर लोग सड़क के दोनों ओर जमा हो गए। मोदी ने मतदान करने के बाद मतदान केंद्र से कुछ दूर पैदल चलकर मीडियाकर्मियों से भी बात की थी।

इसके बाद कांग्रेस ने मोदी को “uncaring offender” कहते हुए चुनाव आयोग से शिकायत दर्ज़ कर मोदी के चुनाव प्रचार पर 2-3 दिनों के लिए रोक लगाने की मांग की थी।

कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी ने आयोग से शिकायत करने के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री का पद एक उच्च पद है। जितना बड़ा पद, उतनी ही बड़ी जिम्मेदारी होती है। किन्तु इन बातों की परवाह किये बिना प्रधानमंत्री लगातार चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन कर रहे हैं।

सिंघवी ने चुनाव आयोग से भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह पर भी 72 घंटे की पाबंदी की मांग की है। सिंघवी ने आयोग से शिकायत की है कि आमित शाह ने  पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर में अपने चुनाव प्रचार के दौरान बालाकोट, पुलवामा और सेना के नाम पर वोट मांगे हैं।


मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

Related



मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।