जमशेदपुर के थाने में पत्रकारों पर हमला करने वाले पुलिसकर्मी निलम्बित, JJA ने की उच्चस्तरीय जांच की मांग

मीडिया विजिल मीडिया विजिल
अभी-अभी Published On :


रविवार १० अप्रैल की देर रात जमशेदपुर जिले के सीतारामपुर डेरा पुलिस थाने में आधा दर्जन से ज्यादा पत्रकारों और कैमरामैनों के ऊपर पुलिस ने कथित रूप से हमला किया और उनके उपकरण तोड़ दिए। जमशेदपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनूप टी. मैथ्यू के मुताबिक इस सिलसिले में चार पुलिसवालों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है और थाना प्रभारी जयंत तिर्की को हटा दिया गया है।

यह घटना 10 अप्रैल की रात की है जब एक व्यक्ति की कथित गैर-कानूनी हिरासत के सिलसिले में झारखण्ड के कैबिनेट मंत्री सरयू राय उससे मिलने थाने आए थे। उनके थाने से जाने के बाद पत्रकार लॉक अप में बंद उक्त व्यक्ति की तस्वीरें उतारने की कोशिश कर रहे थे जिसके बाद पुलिस ने पत्रकारों पर हमला किया। समूचे प्रकरण के बाद देर रात उक्त व्यक्ति को रिहा कर दिया गया।

झारखण्ड पत्रकार संघ (जेजेए) ने पत्रकारों पर हमले की घटना को आला अधिकारियों के समक्ष उठाया है। जेजेए के राज्य संयोजक शाहनवाज़ के मुताबिक, ”हमने पुलिस महानिदेशक से मुलाकात की है और उनसे गुज़ारिश की है कि आइजी स्तर के किसी अधिकारी से इस घटना की जांच करवायी जाए। इसके अलावा हमले में शामिल पुलिसवालों के खिलाफ एक एफआइआर भी दर्ज की जाए।”

जिन पत्रकारों को चोट आई है उनमें ब्रजेश सिंह, मुकेश, मनमोहन, अनूप मिश्र, इम्तियाज़ और सुदर्शन शर्मा शामिल हैं।


Related