2 ही दिन में नए कोरोना संक्रमण का नया रेकॉर्ड, फिर से 7000 पार

मयंक सक्सेना मयंक सक्सेना
अभी-अभी Published On :


केवल 2 ही दिन के अंदर, भारत में कोरोना संक्रमण के नए मामलों ने अपना पिछला रेकॉर्ड भी तोड़ दिया है। 24 मई के 7,111 मामलों के मुक़ाबले, 27 मई को नए कोरोना पॉज़िटिव मामलों की संख्या बढ़ कर 7,270 पहुंच गई है। 27 मई की रात 12 बजे तक के सभी राज्यों के रिपोर्टेड आंकड़ों के मुताबिक 1,404 नए मामलों के साथ, एक बार फिर नए केस 7,000 के पार हो गए हैं। ये मामले 24 मई के नए मामलों से 159 अधिक मामले हैं।

48 घंटे में ही नए संक्रमण केस का पिछला रेकॉर्ड टूटा

27 मई को भी सबसे ज़्यादा नए कोरोना पॉज़िटिव मामले महाराष्ट्र में ही सामने आए हैं। महाराष्ट्र में 2,190 नए मामले सामने आए हैं, जबकि तमिलनाडु में 817 नए मामले हैं। इस बार दिल्ली ने 792 नए कोरोना पॉज़िटिव मामलों के साथ, गुजरात को पीछे छोड़ दिया है। गुजरात में नए मामले उसी औसत आंकड़े के आस-पास घूम रहे हैं, जो अभी तक वहां रहा है – वहां पर 376 नए मामले हैं। उसमें भी 256 मामले, अकेले अहमदाबाद से हैं। इसके साथ दिल्ली अब कुल कोरोना संक्रमण मामलों की संख्या में भी गुजरात से ऊपर चला गया है।

27 मई के राज्यवार कोरोना मामले

लेकिन असल मामला आंकड़ों को सरसरी निगाह से देखने में समझ में नहीं आएगा। दरअसल कोरोना संक्रमण के नए मामलों का सीधा रिश्ता, टेस्टिंग से भी है। इसलिए हमने सोचा कि आपको कुछ ग्राफ दिखाएं, जिससे आप थोड़ा और समझ सकें कि कोरोना के आंकड़े कहां और क्यों बढ़ रहे हैं और कहां क्यों एक जैसे ही हैं। पहले ग्राफ को देख कर आप समझ सकते हैं कि कुल टेस्टिंग और प्रतिदिन टेस्टिंग में महाराष्ट्र सबसे आगे हैं और ये भी एक वजह है कि वहां कोरोना के मामले भी ज्यादा हैं। तमिलनाडु सबसे ज़्यादा टेस्ट्स कर रहा है और फिर भी वह नंबर 2 पर है। लेकिन गुजरात और दिल्ली में कुल कोरोना टेस्ट्स की संख्या भी कम है।

अगर हम दूसरा ग्राफ देखें, जहां केवल आज के टेस्टिंग और नए मामलों के आंकड़े हैं तो स्थिति और स्पष्ट हो जाती है।

27 मई के टेस्ट और नए मामले

इन आंकड़ों से स्पष्ट है कि सबसे अधिक टेस्ट महाराष्ट्र ने किए जबकि सबसे कम गुजरात ने। उस लिहाज से देखें तो सबसे अधिक टेस्ट्स करने में 27 मई को नंबर दो पर राजस्थान रहा, लेकिन टॉप 5 संक्रमित राज्यों में सबसे कम मामले वहीं थे। इसी तरह आपको गुजरात नंबर 4 पर कुल मामलों में दिखेगा लेकिन अगर कुल टेस्ट्स की बात करें, तो प्रदेश के तौर पर दिल्ली की आबादी गुजरात से कहीं कम है। इसलिए प्रति मिलियन टेस्ट संख्या, गुजरात की कम होगी और उसके बावजूद गुजरात और दिल्ली के कुल मामलों में कोई बहुत ज्यादा फर्क नहीं है। यानी कि गुजरात में संक्रमण की दर, दिल्ली से कहीं ज़्यादा है।

27 मई को देश में कोरोना संक्रमण से 187 और लोगों की मृत्यु हो गई और ये आंकड़ा बढ़कर 4,534 हो गया है।


हमारी ख़बरें Telegram पर पाने के लिए हमारी ब्रॉडकास्ट सूची में, नीचे दिए गए लिंक के ज़रिए आप शामिल हो सकते हैं। ये एक आसान तरीका है, जिससे आप लगातार अपने मोबाइल पर हमारी ख़बरें पा सकते हैं।  

इस लिंक पर क्लिक करें

मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।