Media Vigil का आकलन सही साबित- नए कोरोना मामलों में दिल्ली, महाराष्ट्र से भी ऊपर पहुंचा

मयंक सक्सेना मयंक सक्सेना
Corona Published On :


कोरोना संक्रमण के नए मामलों में मीडिया विजिल का तीन दिन पहले किया गया आकलन सही साबित हुआ। दिल्ली, एक दिन के नए कोरोना संक्रमण मामलों में – महाराष्ट्र से ऊपर जा पहुंचा है। हमने अपने लाइव शो – कोरोना का ‘डंक’गणित में ये आशंका जताई थी कि जिस तरह से दिल्ली में कोरोना संक्रमण के नए मामले बढ़ रहे हैं – ऐसी स्थिति में दिल्ली, जल्द ही महाराष्ट्र से ऊपर चला जाएगा। ये आकलन हमने महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के नए मामलों के घटते प्रतिशत/प्रति सौ टेस्ट और दिल्ली में इसके बढ़ते प्रतिशत के आधार पर किया था। 23 मई की रात को आए अंतिम आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में नए कोरोना संक्रमण 4,000 के करीब जा कर, 3,947 पर रुके हैं – जबकि महाराष्ट्र के नए संक्रमण के मामले 3,214 हैं।

23 जून, 2020 के कोरोना संक्रमण के नए मामले

इसी के साथ भारत में कोरोना संक्रमण के 23 जून को नए मामले 15,653 रहे और कुल 468 लोगों ने अपनी जान इस संक्रमण से गंवा दी। भारत के कुल कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या अब 4,56,115 हो चुकी है और हमारा कर्व अभी किसी पीक तक नहीं पहुंचा है, बल्कि ऊपर ही जा रहा है।

क्या था हमारा आकलन? 

हमारी डेटा एनालिस्ट सौम्या गुप्ता ने हमारे शो कोरोना का डंक-गणित में 20 जून को ही कहा था कि दिल्ली में कोरोना का ग्राफ बढ़ रहा है, जबकि महाराष्ट्र में प्रतिशत में वह गिर रहा है। उन्होंने आंकड़ों का विश्लेषण कर के हमारे सामने रखा था कि दिल्ली में टेस्ट के अनुपात में नए मामलों की संख्या बढ़ रही है। 18 जून को टेस्ट की संख्या गिरने के बावजूद, नए मामलों की संख्या का प्रतिशत बढ़ गया था।

19 जून तक के दिल्ली के आंकड़ों का विश्लेषण

इसके आधार पर सौम्या ने ये अनुमान पहले ही दे दिया था कि आने वाले सप्ताह में दिल्ली में प्रतिदिन कोरोना के नए केस की संख्या, महाराष्ट्र से अधिक हो जाएगी। फिलहाल अनुमान ये ही है कि दिल्ली में कोरोना के मामलों की संख्या में कोई आमूल-चूल कमी देखने को नहीं मिलेगी।

(हमारा शो आप ऊपर दिए वीडियो पर क्लिक/टैप कर के देख सकते हैं)

अब दिल्ली के लगातार आ रहे आंकड़ों से दो बातें साफ होती हैं –

  1. अभी तक दिल्ली में टेस्टिंग पर्याप्त संख्या में नहीं की जा रही थी।
  2. दिल्ली में कोरोना संक्रमण की ट्रेसिंग भी ठीक से नहीं की गई है।

इन तथ्यों को अगर ग़ौर से देखें तो हो सकता है कि महाराष्ट्र और तमिलनाडु में नए कोरोना संक्रमण के मामलों की संख्या भले ही गिरती जाए। लेकिन कुछ और राज्यों में ये संख्या बढ़ने से देश में कोरोना संक्रमण अभी थमता नहीं दिखाई दे रहा है।


ये रिपोर्ट सौम्या गुप्ता के इनपुट और विश्लेषण के आधार पर मयंक सक्सेना ने लिखी है।

 

मीडिया विजिल का स्पॉंसर कोई कॉरपोरेट-राजनैतिक दल नहीं, आप हैं। हमको आर्थिक मदद करने के लिए – इस ख़बर के सबसे नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें।

हमारी ख़बरें Telegram पर पाने के लिए हमारी ब्रॉडकास्ट सूची में, नीचे दिए गए लिंक के ज़रिए आप शामिल हो सकते हैं। ये एक आसान तरीका है, जिससे आप लगातार अपने मोबाइल पर हमारी ख़बरें पा सकते हैं।  

इस लिंक पर क्लिक करें

मीडिया विजिल जनता के दम पर चलने वाली वेबसाइट है। आज़ाद पत्रकारिता दमदार हो सके, इसलिए दिल खोलकर मदद कीजिए। अपनी पसंद की राशि पर क्लिक करके मीडिया विजिल ट्रस्ट के अकाउंट में सीधे आर्थिक मदद भेजें।

मीडिया विजिल से जुड़ने के लिए शुक्रिया। जनता के सहयोग से जनता का मीडिया बनाने के अभियान में कृपया हमारी आर्थिक मदद करें।