Home वीडियो “इमरजेंसी पर फिल्‍में बनाने से फुरसत मिल गई हो तो अब ‘गुजरात...

“इमरजेंसी पर फिल्‍में बनाने से फुरसत मिल गई हो तो अब ‘गुजरात फाइल्‍स’ पर फिल्‍म बनाएं”

SHARE

पत्रकार राणा अयूब की किताब ‘गुजरात फाइल्‍स’ के हिंदी संस्‍करण के लोकार्पण के मौके पर 16 सितंबर को दिल्‍ली में मंच से एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार ने अपनी बात रखी। उन्‍होंने सवाल उठाया कि आखिर हम दंगों को क्‍यों भूल जाते हैं। किताब के कवर का उन्‍होंने विशेष रूप से जि़क्र किया जिस पर एक छिपकिली बनी है। यह किताब इसी छिपकिली के रूप में है। देखें पूरा वीडियो:  

1 COMMENT

  1. Emergency पर बनी फिल्म का विरोध हो चुका होतो पद्मावती पर काल्पनिक कहानी के आधार पर बनाई जा रही पद्मावती और खिलजी की लव स्टोरी पर भी थोड़ा विरोध सऊदी के रेगिस्तानी मसीहा पर फ़िल्म बनाने के करने का न्योता देना किसी रविसकुमारको।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.