Home टीवी NDTV के आंतरिक ‘स्वच्‍छता अभियान’ में क्‍या अगला नंबर सोनिया सिंह का...

NDTV के आंतरिक ‘स्वच्‍छता अभियान’ में क्‍या अगला नंबर सोनिया सिंह का है?

SHARE

पिछले शनिवार यानी 22 अक्‍टूबर को एनडीटीवी के सीईओ विक्रम चंद्रा के चैनल छोड़ देने की आशंका वाली ख़बर चलाते वक्‍त जब एक्‍सचेंज4मीडिया ने उनके इस्‍तीफे की अटकलों के बारे में पूछा था तब उन्‍होंने साफ़ कह दिया था कि ऐसी अटकलें हर रोज़ लगाई जाती हैं, इसलिए जब भी ऐसा कुछ होगा तो वे सूचित कर देंगे। ठीक पांच दिन बाद 27 अगस्‍त को ”हर रोज़” लगाई जाने वाली अटकलों को उन्‍होंने हकीक़त में तब्‍दील कर दिया और वास्‍तव में अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया। क्‍या यह संयोग था या पहले से चले आ रहे किसी घटनाक्रम का परिणाम? क्‍या एनडीटीवी में अभी कुछ और विकेट गिरने बाकी हैं?



विक्रम चंद्रा ने अपने इस्‍तीफे की वजह के बारे में ट्वीट किया है और अख़बारों को बताया भी है कि वे पत्रकारिता की ओर लौटना चाहते थे क्‍योंकि प्रबंधकीय काम से उनका जी भर गया था। यह बात अपने आप क्‍या विरोधाभासी नहीं है? क्‍या किसी समाचार संस्‍थान का सीईओ जो खुद एक पत्रकार हो, अपनी मर्जी से अपने किस्‍म की पत्रकारिता अपने समूह में इस पद पर रहते हुए नहीं कर सकता?

चंद्रा के बयान को अगर सच मानें, तो इसका मतलब यही निकलता है कि वे पत्रकारिता नहीं कर पा रहे थे, केवल प्रबंधन करने में जुटे हुए थे। किसका प्रबंधन? कैसा प्रबंधन?

यही वह पहेली है जो एक के बाद एक अलग-अलग कारणों से इस महीने एनडीटीवी के सुर्खियों में लगातार बने रहने की वजह है। सबसे पहले 6 अक्‍टूबर को पूर्व वित्‍त मंत्री पी. चिदंबरम का एक साक्षात्‍कार जो बरखा दत्‍त ने लिया था, उसे नहीं चलाया गया। ध्‍यान रहे कि बरखा दत्‍त ने भी हाल ही में चैनल की पूर्णकालिक नौकरी से अपना इस्‍तीफा दिया है और वहां परामर्शदाता की हैसियत से काम कर रही हैं तथा एक मीडिया कंपनी स्‍थापित करने की कवायद में जुटी हैं।

बहरहाल, चिदंबरम का साक्षात्‍कार नहीं चलाए जाने पर हुई खिंचाई के बाद अचानक शेखर गुप्‍ता ने एनडीटीवी पर कारोबारी मुकेश अम्‍बानी का एक इंटरव्‍यू कर दिया, जिनकी कथित तौर पर इस मीडिया समूह में मालिकाना हिस्‍सेदारी भी है। इसी हिस्‍सेदारी से जुड़े एक संदिग्‍ध समझौते की जांच को पी. चिदंबरम ने रोकने की कोशिश की थी और बाद में प्रवर्तन निदेशालय ने इस संबंध में फेमा कानून के उल्‍लंघन के आरोप में एनडीटीवी पर 2030 करोड़ का नोटिस ठोंक दिया था। इस मामले में बीते अगस्‍त में सुब्रमण्‍यन स्‍वामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तीन पन्‍ने का पत्र लिखकर एनडीटीवी, प्रणय रॉय, बरखा दत्‍त, विक्रम चंद्रा और सोनिया सिंह के खिलाफ सीबीआइ-ईडी की जांच की मांग की थी।

इस पत्र के कुछ महीने पहले ही बरखा समूह संपादक के अपने पद से इस्‍तीफा दे चुकी थीं। अब विक्रम चंद्रा ने सीईओ के पद से इस्‍तीफा दे दिया है और कुल मिलाकर बची हैं सोनिया सिंह, जो फिलहाल संपादक की भूमिका निभा रही हैं। ध्‍यान रहे कि सोनिया सिंह कांग्रेस के नेता आरपीएन सिंह की पत्‍नी हैं। ज़ाहिर है, प्रणय रॉय खुद इस समूह के प्रमोटर हैं तो उनके हटने का कोई सवाल नहीं उठता। तो क्‍या माना जाए कि एनडीटीवी के खिलाफ घोटाले की जांच अंदरखाने तेज़ हो चुकी है और कंपनी किसी बड़ी कार्रवाई की आशंका में स्‍वच्‍छता अभियान में जुटी हुई है जिसके तहत विक्रम चंद्रा बाहर गए हैं?

बरखा, विक्रम, सोनिया आदि एनडीटीवी के कोर ग्रुप के चेहरे हुआ करते थे। इन्‍हें एक ज़माने में ‘रॉयज़ ब्‍वायज़‘ कहा जाता था। ये सभी लोग काफी बड़े खानदानों से आते हैं। एक समय में तो यह बात आम थी कि अगर आप किसी नौकरशाह के परिवार से ताल्‍लुक नहीं रखते तो एनडीटीवी में नौकरी पाना आपके वश में नहीं है। इन तमाम पत्रकारों के परिवारों की धमक दिल्‍ली के सत्‍ता के गलियारों में रही है। मसलन, विक्रम चंद्रा नागरिक विमानन के पूर्व महानिदेशक योगेश चंद्रा के पुत्र हैं। योगेश चंद्रा के ससुर गोविंद नारायण थे जो पूर्व गृह और रक्षा सचिव हैं तथा कर्नाटक के राज्‍यपाल भी रह चुके हैं। इसी तरह चंद्रा की जगह अब सीईओ बने केवीएल नारायण राव पूर्व सैन्‍य जनरल केवी कृष्‍णा राव के बेटे हैं जो जम्‍मू और कश्‍मीर समेत कुछ अन्‍य राज्‍यों के राज्‍यपाल रह चुके हैं। सोनिया सिंह जो पहले सोनिया वर्मा थीं, कांग्रेसी नेता आरपीएन सिंह की पत्‍नी हैं। इसके अलावा एनडीटीवी के परिचित चेहरे श्रीनिवासन जैन दक्षिण अफ्रीका में उच्‍चायुक्‍त रह चुके एलसी जैन और अर्थशास्‍त्री देविका जैन के सुपुत्र हैं। निधि राज़दान पीटीआइ के मुख्‍य संपादक एम.के. राज़दान की पुत्री हैं। ऐसे पत्रकारों की एनडीटीवी में लंबी फेहरिस्‍त हैं जिनके बाप-दादा-चाचा आदि सत्‍ता के गलियारों में बड़े ओहदों पर रहे हैं।

ज़ाहिर है, ऐसे लोगों के चलते एनडीटीवी का शुरुआती दौर बहुत मजब़ूत भी रहा जिसने इस चैनल की शक्‍ल को गढ़ने में मदद की। राज्‍यसत्‍ता से मिलने वाली इससे ज्‍यादा मदद क्‍या होगी कि चैनल अपनी शुरुआत प्रधानमंत्री निवास से करता है और अपनी 25वीं सालगिरह राष्‍ट्रपति भवन में मनाता है। पत्रकारिता के लिए इससे ज्‍यादा बड़ा संपर्क क्‍या होगा कि खुद देश का वित्‍त मंत्री इस चैनल को घोटाले के आरोप से बचाने के लिए जी-जान लगा देता है और जांच कर रहे एक आयकर अधिकारी का जीना हराम कर देता है। इस पूरी कहानी में बस ग़लती एक हुई- 16 मई, 2014 को इस देश का निज़ाम बदल गया।

निज़ाम बदला और आस्‍थाएं बदलीं। आस्‍थाएं बदलीं तो सत्‍ता को अपने हिसाब से चलाने की ताकत पर असर पड़ा। दबाव बनने शुरू हुए। उसका असर आज हम एनडीटीवी की परत दर परत दर उघड़ने के रूप में साफ़ देख पा रहे हैं। बरखा जा चुकी हैं। चंद्रा भी जा चुके हैं। सवाल रह जाता है कि क़यामत आने से पहले क्‍या अगली बारी सोनिया सिंह की है?

24 COMMENTS

  1. I’ll immediately snatch your rss as I can not in finding your email subscription link or newsletter service. Do you have any? Please let me recognise so that I may just subscribe. Thanks.

  2. Wonderful beat ! I would like to apprentice while you amend your website, how could i subscribe for a blog website? The account aided me a acceptable deal. I had been tiny bit acquainted of this your broadcast offered bright clear concept

  3. Very nice post. I just stumbled upon your blog and wished to say that I’ve really enjoyed browsing your blog posts. After all I will be subscribing to your feed and I hope you write again soon!

  4. Hi! Do you know if they make any plugins to protect against hackers? I’m kinda paranoid about losing everything I’ve worked hard on. Any recommendations?

  5. Hello I am so delighted I found your weblog, I really found you by error, while I was looking on Google for something else, Nonetheless I am here now and would just like to say thanks for a remarkable post and a all round thrilling blog (I also love the theme/design), I don’t have time to read it all at the minute but I have saved it and also added in your RSS feeds, so when I have time I will be back to read a lot more, Please do keep up the superb job.

  6. I do not know whether it’s just me or if everyone else encountering issues with your blog. It appears like some of the written text within your content are running off the screen. Can someone else please comment and let me know if this is happening to them as well? This might be a issue with my web browser because I’ve had this happen previously. Many thanks

  7. Thank you for the good writeup. It in fact was a amusement account it. Look advanced to more added agreeable from you! By the way, how can we communicate?

  8. This is the best weblog for anybody who wants to find out about this subject. You understand so significantly its pretty much difficult to argue with you (not that I actually would want…HaHa). You absolutely put a brand new spin on a topic thats been written about for years. Terrific stuff, just excellent!

  9. I’m not sure why but this website is loading extremely slow for me. Is anyone else having this issue or is it a issue on my end? I’ll check back later and see if the problem still exists.

  10. My brother recommended I might like this web site. He was totally right. This post actually made my day. You cann’t imagine just how much time I had spent for this information! Thanks!

  11. Excellent post. I used to be checking continuously this weblog and I am inspired! Very useful information specially the last phase 🙂 I handle such info a lot. I was looking for this particular information for a very long time. Thank you and best of luck.

  12. Nice post. I was checking continuously this weblog and I’m impressed! Extremely helpful info specifically the final section 🙂 I take care of such info much. I used to be looking for this certain info for a long time. Thank you and good luck.

  13. you will have an important weblog right here! would you like to make some invite posts on my weblog?

  14. Just desire to say your article is as amazing. The clearness on your put up is simply excellent and i could suppose you’re a professional in this subject. Well along with your permission allow me to snatch your feed to stay updated with approaching post. Thanks one million and please continue the enjoyable work.

  15. You have a terrific weblog here! would you like to make some invite posts on my blog?

  16. I’d must verify with you here. Which is not one thing I normally do! I get pleasure from studying a submit that can make people think. Also, thanks for allowing me to remark!

  17. It’s really a cool and useful piece of info. I’m glad that you shared this useful information with us. Please keep us up to date like this. Thanks for sharing.

  18. That is the suitable blog for anyone who needs to search out out about this topic. You realize so much its virtually hard to argue with you (not that I truly would need…HaHa). You positively put a brand new spin on a subject thats been written about for years. Great stuff, just great!

  19. you’re really a good webmaster. The website loading speed is amazing. It seems that you are doing any unique trick. In addition, The contents are masterwork. you have done a great job on this topic!

  20. I just like the valuable info you provide to your articles. I’ll bookmark your blog and take a look at again right here frequently. I am quite sure I will be informed a lot of new stuff right right here! Best of luck for the following!

  21. Thanks for the article post.Thanks Again. Will read on…

  22. Thank you, I’ve recently been looking for information about this subject for a while and yours is the greatest I’ve discovered so far. But, what in regards to the bottom line? Are you positive concerning the supply?

  23. I am extremely inspired with your writing skills and also with the format for your blog. Is this a paid subject or did you modify it yourself? Either way stay up the nice quality writing, it’s rare to look a great weblog like this one nowadays..

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.