Home टीवी Republic TV के ब‍हाने टीवी समाचार चैनलों की भूमिका के तीन नए...

Republic TV के ब‍हाने टीवी समाचार चैनलों की भूमिका के तीन नए आयाम

SHARE

दि इंडियन एक्‍सप्रेस में शैलजा बाजपेयी लंबे समय से मीडिया पर अपना स्‍तंभ लिख रही हैं। 11 मई को लिखे स्‍तंभ में उन्‍होंने दो-तीन मोटी बातें रिपब्लिक चैनल के हवाले से गिनवाई हैं जिन्‍हें पढ़ा जाना चाहिए।

”ऑन द रन” के शीर्षक से लिखे अपने स्‍तंभ में शैलजा एक ज़रूरी बात की ओर इशारा करती हैं जिसकी ओर अब तक हमारा ध्‍यान नहीं गया था। वो ये, कि रिपब्लिक टीवी चौबीस घंटे का प्रसारण केवल एक या ज्‍यादा से ज्‍यादा दो खबरों से ही निकाल दे रहा है और दिन भर की नियमित खबरें नहीं चला रहा। वे लिखती हैं, ”ये लोग बिना दिन भर की खबर दिखाए समाचार चैनल चला रहे हैं।” वे लिखती हैं कि पहले भी ऐसा हुआ था, मसलन तब, जब जे. जय‍ललिता का निधन हुआ, लेकिन वह एक ”डेवलपिंग” स्‍टोरी थी। आज की खबरों से उसका अंतर दिखाते हुए शैलजा लिखती हैं, ”ये खबरें चैनल खुद डेवलप कर रहे हैं।” यह एक बड़ा फर्क है जिसे दर्ज किया जाना चाहिए।

दूसरी अहम बात जिसकी ओर कई टिप्‍पणीकारों का ध्‍यान गया है, वो यह है कि आज की तारीख में तमाम समाचार चैनल एकतरफा तरीके से विपक्ष के नेताओं के खिलाफ़ खबरें चला रहे हैं- सोनिया गांधी, प्रियंका वाड्रा, अखिलेश यादव, केजरीवाल, लालू प्रसाद यादव, शशि थरूर। वे कहती हैं कि रिपब्लिक टीवी और उसके प्रस्‍तोता अर्णब गोस्‍वामी ने  अपना समय पूरी विनम्रता से विपक्ष को दिया है, जिसे ”राष्‍ट्रद्रोही” कहना उसे भाता है।

इसी संदर्भ में वे तीसरी अहम बात कह जाती हैं कि जिन चैनलों को शासकों का वॉचडॉग होना चाहिए था, वे अब विपक्ष के वॉचडॉग बन गए हैं। टीवी चैनलों की भूमिका में जुड़ा यह नया आयाम है। पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

4 COMMENTS

  1. But before you call all parties TRAITORS and leaving BJP, let us understand What is NATION STATE. For this a recent SOURCE is DOZENS OF LECTURES ON NATION STATE IN JNU BY PROFESSORS are available in India resists.com. How u can judge anybody, anything without DEEP STUDY done by judiciary through out the globe.

  2. A formidable share, I just given this onto a colleague who was doing somewhat evaluation on this. And he in reality bought me breakfast because I found it for him.. smile. So let me reword that: Thnx for the treat! However yeah Thnkx for spending the time to debate this, I feel strongly about it and love studying more on this topic. If possible, as you grow to be expertise, would you mind updating your blog with extra particulars? It’s extremely helpful for me. Massive thumb up for this weblog publish!

  3. This website is really a stroll-by way of for all of the information you wanted about this and didn’t know who to ask. Glimpse here, and also you’ll definitely discover it.

  4. You actually make it seem so easy with your presentation but I find this topic to be actually something which I think I would never understand. It seems too complicated and very broad for me. I am looking forward for your next post, I will try to get the hang of it!

LEAVE A REPLY