Home टीवी मोदियाबिंद : JNU में मोदी का पुतला फुँकने से ख़फ़ा चैनलों को...

मोदियाबिंद : JNU में मोदी का पुतला फुँकने से ख़फ़ा चैनलों को मनमोहन याद नहीं !

SHARE

पिछले दिनों केंद्र सरकार ने फ़रमान जारी किया कि सरकार की नीतियों का विरोध करने वाले कर्मचारियों के ख़़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई होगी। पता नहीं सरकारी कर्मचारी विरोध करने के अपने अधिकार कितनी आसानी से छोड़ेंगे, लेकिन सरकारी कर्मचारियों के दर्जे और दायरे से बाहर समझे जाने वाला मीडिया बिलकुल राइट टाइम  हो गया है। जेएनयू में मोदी के पुतला दहन को लेकर जिस तरह से न्यूज़ चैनलों में हैरानी जताते होते कार्रवाई की माँग की जा रही है,वह बताता है कि मोदीप्रेम में वे अपनी याददाश्त गँवा बैठे हैं।

उनके हाहाकार को देखकर ऐसा लगता है कि देश में पहली बार पीएम का पुतला फूँका गया है। सबसे दिलचस्प तौर-तरीका तो इन दिनों ज़ी न्यूज़ बनने को आतुतर दिख रहे एबीपी का नज़र आया। वह लगातार ”जेएनयू नहीं सुधरेगा” जैसी हेडलाइन चला रहा था जो प्रोड्यूसर से लेकर संपादक तक की समझ का पता दे रही थी। गोया एबीपी को पक्का यक़ीन है कि जेएनयू कोई बिगड़ी हुई जगह है। देश के शीर्ष विश्वविद्यालयों में एक कहे जाने इस विश्वविद्यालय की प्रतिभा और मेधा का उसे ज़रा भी अंदाज़ा नहीं है। वैसे, लिखने वालों ने यह भी नहीं सोचा कि पुतला कांग्रेसी छात्रों ने फूँका है जबकि उसके ”सुधार” का निशाना वामपंथी हैं।

सच्चाई यह है कि भारत शुरू से ही ”पुतला फूँक” लोकतंत्र है। यहाँ तो गाँधी को भी रावण बताकर उनका वध करने वाले कार्टून छापे गये और ऐसा किसी और ने नहीं ख़ुद बीजेपी के वैचारिक पुरखों ने किया। ज़रा इस कार्टून को देखिये जिसमें सावरकर और श्याप्रसाद मुखर्जी दस सिर वाले गाँधी का वध करने को तैयार हैं। दस सिरों में पटेल, नेहरू और आज़ाद सब हैं।

gandhi-putla

आखिर, देश में कौन सा पीएम और सीएम हुआ है जिसका पुतला न फूँका गया हो। बीजेपी ने अतीत में प्रधानमंत्री का पुतला ही नहीं फूँका, मनमोहन सिंह को चोर तक कहा था। ख़ैर, वह राजनीतिक दल है, आपत्ति करे तो समझ में आता है, लेकिन जब चैनलों स्मृतिभंग क शिकार होकर रोना रो रहे हैं तो फिर ये तस्वीरें उन्हें होश में ला सकती हैं..हालाँकि वे होश में आना चाहते हैं, इसमें शक है..!

manmohan-ravan(यह तस्वीर 25 अक्टूबर 2012 की है जब भाजपा कला संस्कृति मंच ने पटना के विधायक आवास चौराहे पर ‘आज के रावण ‘ का पुतला फूंका l पुतले में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, वित्त मंत्री पी चिदंबरम, कानून मंत्री सलमान खुर्शीद, सलमान खुर्शीद, दिल्ली की मुख्य मंत्री शीला दीक्षित, कृषि मंत्री शरद पवार, ए राजा व सुरेश कलमाड़ी का रूप दिया गया था l )

manmohan-putla

manmohan-putla-2manmohan-putla-3manmohan-chor

 

और केजरीवाल तो भाजपाइयों के लिए साक्षात रावण हैं…लेकिन चैनलों को नहीं दिखता…
kejariwal-putlakejari-putla

चैनलों को याद रहा बस जेएनयू में मोदी का पुतला दहन…रावण बना डाला मोदी को…ग़ज़ब हुआ, घोर कलियुग. !..और बाक़ी के साथ जो हुआ उसको देख समझ पाने लायक़ आँखें ये गँवा चुके हैं….

 

jnu-modi-jpg-new

12 COMMENTS

  1. Now the scale of measurment has changed…previosly it was made of wood ,now it has become of stainless steel. then eyes were of stone now they are of humen ….what joke now a days ..you can do everything but we cannot do even right thing,we should not open our mouth against …otherwise we will be called DESHDROHI ……what to write will be less on the presnt one sided storm selfishness.

  2. Hi there, I found your website by way of Google whilst searching for a comparable subject, your website got here up, it looks good. I have bookmarked it in my google bookmarks.

  3. Hello there! Do you know if they make any plugins to protect against hackers? I’m kinda paranoid about losing everything I’ve worked hard on. Any tips?

  4. I haven’t checked in here for some time because I thought it was getting boring, but the last several posts are great quality so I guess I will add you back to my daily bloglist. You deserve it my friend 🙂

  5. Very good written post. It will be beneficial to everyone who usess it, as well as yours truly :). Keep doing what you are doing – can’r wait to read more posts.

  6. Thank you for the sensible critique. Me & my neighbor were just preparing to do a little research about this. We got a grab a book from our local library but I think I learned more clear from this post. I’m very glad to see such wonderful info being shared freely out there.

  7. Aw, this was a truly nice post. In notion I would like to put in writing like this moreover – taking time and actual effort to make a very very good article… but what can I say… I procrastinate alot and by no indicates appear to get something done.

  8. I like the helpful information you provide in your articles. I will bookmark your weblog and check again here frequently. I am quite sure I will learn many new stuff right here! Good luck for the next!

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.