Home टीवी हुल्लड़बाज़ चैनलों के युग में एक ‘गुफ़्तगू’ की 200 कड़ियाँ !

हुल्लड़बाज़ चैनलों के युग में एक ‘गुफ़्तगू’ की 200 कड़ियाँ !

SHARE

guftgoo-new

मीडिया को लेकर विजिलेंट होने का मतलब सिर्फ ये नहीं है की हम उसकी कमियाँ ही तलाशें। तमाम सीमाओं और टीवी में सिकुड़ते रचनात्मक स्पेस के भीतर भी जो काम अच्छा और ऐतिहासिक महत्त्व का है उसको रेखांकित करना भी हम ज़रूरी समझते हैं।

बीते रविवार राज्य सभा टीवी के सेलिब्रिटी साक्षात्कारों के कार्यक्रम ‘गुफ़्तगू’ ने अपने 200 एपिसोड पूरे कर लिए। यह कार्यक्रम अपनी संकल्पना घोषित करते हुए कहता है “यह प्रोग्राम कला, साहित्य, संस्कृति और सिनेमा सहित जीवन के कोमल पक्षों से जुड़े उन महत्वपूर्ण लोगों के साथ इंटरव्यू की श्रृंखला है जिनके जीवन और कृतित्व से हमारा समय प्रभावित हुआ है।”  इस शो में बिना किसी सनसनी और आक्रामकता के आमंत्रित गेस्ट के साथ उसके जीवन की यात्रा इस तरह ट्रेस की जाती है जो सुदूर गावों, क़स्बों जनपदों में बैठे दर्शकों को प्रेरित कर सके।

टीवी चैनलों के इस हाहाकारी समय में ‘गुफ़्तगू’ जैसा कार्यक्रम देख पाना एक विरल अनुभव है। इसकी एक बड़ी वजह साक्षात्कार लेने वाले इरफ़ान की अपनी शख्सियत और अदाज़ भी है। इरफ़ान न कोई चीख़-पुकार मचाते हैं और न सामने वाले को बेइज़्ज़त करते हैं जो इस दौर की पहचान है, उल्टा वे बड़े प्यार से बात करते हुए इंटरव्यू देने बैठी शख्सियत के दिल में उतर जाते हैं। फिर वो कभी हँसता है तो कभी रुआँसा होता है। लगता है जैसे उसे बातचीत करने की बरसों पुरानी चाह पूरी करने का रास्ता मिल गया है। कोई अपना मिल गया हो। वह दिल खोलकर रख देता है।

guftgoo-gulzarहाल के वर्षों में टीवी एंकरों ने अपने पूर्व निर्धारित एजेंडे के साथ लगातार टोका-टाकी करने वाली शैली अख़्तियार करके टीवी इंटरव्यू फॉरमैट को अरुचिकर और प्रायः घृणास्पद बना डाला है। ऐसे में, टीवी दर्शकों की एक पूरी पीढ़ी जिसने सकारात्मक और सुस्वादु इंटरव्यूज़ नहीं देखे हैं, वह गुफ़्तगू के साथ जुड़ गयी । यहाँ उसे भाषाई शिक्षण और प्रस्तुति की शालीनता के अलावा अतीत की झाँकी और वर्तमान की चिंताओं का एक स्वस्थ खाका मिलता है। पुराने दर्शक इसे ‘क्लासिक दूरदर्शन फ्लेवर’ कहकर खुश होते है तो नए दर्शक भी इसे ‘आतताई एंकरों’ द्वारा खाली की जा चुकी ज़मीन पर विकसित हुआ प्रोग्राम मानते हैं।

निजी चैनेलों से तो उम्मीद ही क्यों करें, लेकिन  पब्लिक सर्विस ब्रॉडकास्टर्स भी अपनी धरोहर के प्रति लगातार पीठ करके खड़े रहे हैं। नतीजे के तौर पर अलग-अलग विधाओं में डंका बजाने वालों के साथ ढंग की बातचीत का कोई कॉम्प्रिहेंसिव आर्काइव आज ढूंढे नहीं मिलता। इसके लिए जो दृढ़ता और अपनी थाती के लिए सम्मान का भाव होना चाहिए, वह शायद दूरदर्शन जैसे संस्थान में था ही नहीं। ऐसे में गुफ़्तगू एक सुखद आश्चर्य की तरह है जिसने एक ओर पेंटिंग, फ़ोटोग्राफ़ी, संगीत, साहित्य, मूर्तिकला, कार्टूनकला, रंगमंच, रेडियो, अकेडेमिया, एडमिनिस्ट्रेशन, कानून और जैसे विविध विषयों से जुडी नामचीन हस्तियों से दर्शकों को परिचित कराया है तो दूसरी ओर सिनेमा के विविध पक्षों से जुडी सेलिब्रिटीज़ से मिलवाने का क्रम जारी रखे हुए है।

vineetयुवा मीडिया समीक्षक विनीत कुमार कहते हैं कि इस कार्यक्रम को सिर्फ़ सेलीब्रिटी के लिए नहीं देखा जाता बल्कि प्रस्तोता इरफ़ान की हिंदी सुनने के लिए भी देखा जाता है। वे जिस तरह सहज ढंग से भाषा को बरतते हैं, वह क़माल है। एक ख़ासियत यह भी है कि जहाँ निजी चैनलों में इंटरव्यू करने वाला पत्रकार अभिभूत दिखता है, उसे  लगता है कि इंटरव्यू देने वाला कोई अहसान कर रहा है, वहीं इरफ़ान पर किसी के स्टारडम का असर नहीं दिखता। वे बड़ी सहजता से क्रिटिकल सवाल भी पूछते हैं लेकिन इंटरव्यू देने वाले को कभी नहीं लगता कि वह कहीं कठघरे में खड़ा है।

विनीत कुमार एक ख़ास बात की ओर और इशारा करते हैं। उनका कहना है कि गुफ़्तगू ने सेलिब्रिटीज़ का इंटरव्यू ही नहीं किया, बल्कि अपने इंटरव्यू के ज़रिये तमाम ऐसे लोगों को सेलिब्रिटी का दर्जा भी दिलाया जो पहले सिर्फ़ अपनी विधा के परिसर में पहचाने जाते थे। अगर इरफ़ान टॉम आल्टर और तिग्मांशु धूलिया से बात करते हैं तो उसी सम्मान के साथ कवि-आलोचक अशोक वाजपेयी और फ़िल्म समीक्षक अजय ब्रह्मात्मज से भी मिलवाते हैं। उनके चयन का आधार हुनरमंद होना और अपने क्षेत्र में योगदान देना होता है न कि विवाद। जबकि निजी चैनलों में सप्ताह से जुड़े विवाद या फिर फ़िल्म रिलीज़ को ध्यान में रखते हुए इंटरव्यू का पात्र तय किया जाता है।

बहरहाल, अपने दो सौ एपिसोड पूरे करने के साथ ही गुफ़्तगू देश का सबसे लंबा चलने वाला ऐसा इंटरव्यू शो बन गया है जो पिछले पांच वर्षों से नेशनल टीवी पर हर सप्ताह दिखाया जा रहा है। टीवी पर प्रसारण के साथ ही इसे इसके दर्शक यूट्यूब की लाइव स्ट्रीमिंग के ज़रिये विदेश में भी बड़ी संख्या में देखते हैं। अमेरिका, इंग्लैंड और कनाडा में बसे गुफ़्तगू प्रशंसकों की सोशल मीडिया पर आने वाली टिप्पणियाँ इसकी गवाह हैं।  फ्रांस में हिन्दी पढ़ रहे छात्रों के बीच भी यह काफ़ी लोकप्रिय है।

guftgoo2-jpg-new

गुफ़्तगू कई मिथ भी तोड़ता है। यूट्यूब पर इस शो के हिट्स देखने से पता चलता है कि दर्शक सिर्फ बड़े फ़िल्मी सितारों के बारे में ही नहीं जानना चाहते बल्कि भूले बिसरे कलाकारों का भी बेसब्री से इंतज़ार करते हैं।  उदाहरण के लिए इन पंक्तियों के लिखे जाने तक अभिनेत्री निम्मी की गुफ़्तगू 4,05242, जया बच्चन 2,81562, वहीदा रहमान 2,56706  और नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को 2,45206 हिट्स दिखाई दे रहे हैं।

यूट्यूब पर गुफ़्तगू के सभी एपिसोड्स यहाँ देखे जा सकते  हैं https://www.youtube.com/user/rajyasabhatv/videos?view=0&shelf_id=18&sort=p

शो के होस्ट इरफ़ान से facebook.com/irfan.sm पर संपर्क किया जा सकता है।

irfan-guftgoo

23 COMMENTS

  1. Hey this is somewhat of off topic but I was wanting to know if blogs use WYSIWYG editors or if you have to manually code with HTML. I’m starting a blog soon but have no coding skills so I wanted to get advice from someone with experience. Any help would be enormously appreciated!

  2. There are some attention-grabbing deadlines on this article however I don’t know if I see all of them heart to heart. There’s some validity however I’ll take hold opinion until I look into it further. Good article , thanks and we want extra! Added to FeedBurner as well

  3. This design is wicked! You definitely know how to keep a reader amused. Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog (well, almost…HaHa!) Wonderful job. I really loved what you had to say, and more than that, how you presented it. Too cool!

  4. Unquestionably believe that which you said. Your favorite justification seemed to be on the web the easiest thing to be aware of. I say to you, I certainly get annoyed while people consider worries that they plainly don’t know about. You managed to hit the nail upon the top as well as defined out the whole thing without having side-effects , people can take a signal. Will probably be back to get more. Thanks

  5. Hi, Neat post. There is an issue with your web site in web explorer, may test this… IE nonetheless is the marketplace leader and a huge section of people will pass over your wonderful writing because of this problem.

  6. You will discover absolutely a good deal of details like that to take into consideration. That’s a fantastic point to bring up. I provide the thoughts above as general inspiration but clearly there are actually questions like the one you bring up where by far the most critical factor might be operating in honest superior faith. I don?t know if best practices have emerged around things like that, but I’m certain that your job is clearly identified as a fair game. Each boys and girls feel the impact of just a moment’s pleasure, for the rest of their lives.

  7. I do love the manner in which you have presented this concern plus it really does give us a lot of fodder for consideration. Nonetheless, coming from just what I have observed, I just wish when other opinions pile on that people stay on issue and not get started on a tirade associated with the news of the day. Still, thank you for this excellent point and while I can not really go along with it in totality, I regard your viewpoint.

  8. I loved as much as you’ll receive carried out right here. The sketch is tasteful, your authored subject matter stylish. nonetheless, you command get got an edginess over that you wish be delivering the following. unwell unquestionably come more formerly again since exactly the same nearly very often inside case you shield this increase.

  9. I do not even understand how I stopped up here, however I believed this post used to be good. I do not realize who you’re however certainly you are going to a well-known blogger in the event you aren’t already 😉 Cheers!

  10. I like the valuable info you provide in your articles. I’ll bookmark your blog and check again here frequently. I am quite sure I will learn plenty of new stuff right here! Good luck for the next!

  11. This design is steller! You obviously know how to keep a reader amused. Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog (well, almost…HaHa!) Excellent job. I really enjoyed what you had to say, and more than that, how you presented it. Too cool!

  12. Hello my loved one! I wish to say that this article is amazing, great written and come with almost all significant infos. I’d like to look more posts like this .

  13. I have read a few good stuff here. Definitely worth bookmarking for revisiting. I wonder how much effort you put to make such a wonderful informative site.

  14. My brother suggested I might like this blog. He was totally right. This post actually made my day. You can not imagine just how much time I had spent for this info! Thanks!

  15. I just wanted to make a word in order to say thanks to you for these stunning advice you are placing on this site. My time consuming internet search has now been rewarded with good quality suggestions to talk about with my partners. I ‘d assume that we website visitors are very blessed to exist in a magnificent community with very many lovely people with great secrets. I feel rather grateful to have seen your entire weblog and look forward to many more amazing times reading here. Thanks once again for everything.

  16. Good post. I learn one thing tougher on completely different blogs everyday. It should all the time be stimulating to learn content from other writers and observe somewhat one thing from their store. I’d choose to use some with the content on my weblog whether you don’t mind. Natually I’ll provide you with a link in your web blog. Thanks for sharing.

  17. What i don’t understood is actually how you are not really much more well-liked than you may be right now. You’re very intelligent. You realize therefore considerably relating to this subject, made me personally consider it from so many varied angles. Its like women and men aren’t fascinated unless it is one thing to do with Lady gaga! Your own stuffs outstanding. Always maintain it up!

  18. magnificent submit, very informative. I ponder why the opposite specialists of this sector do not notice this. You must continue your writing. I am confident, you have a great readers’ base already!

  19. I used to be more than happy to search out this net-site.I wished to thanks on your time for this excellent learn!! I positively enjoying every little little bit of it and I’ve you bookmarked to take a look at new stuff you weblog post.

  20. This design is wicked! You obviously know how to keep a reader entertained. Between your wit and your videos, I was almost moved to start my own blog (well, almost…HaHa!) Excellent job. I really enjoyed what you had to say, and more than that, how you presented it. Too cool!

LEAVE A REPLY