Home टीवी ‘आज तक’ में गैया…पत्रकारिता की मैया….दैया रे दैया….!

‘आज तक’ में गैया…पत्रकारिता की मैया….दैया रे दैया….!

SHARE

 

बाबा रामदेव क्या कम थे जो सबसे तेज़ ”आज तक” भी मैदान में कूद पड़ा ! काफ़ी दिनों से हर समस्या का इलाज गोबर और गोमूत्र बताने का अभियान चल रहा है, लेकिन अब न्यूज़ चैनलों ने भी इसका झंडा बुलंद कर दिया है। गाय इन दिनों उन्हें बहुत लुभा रही है। आये दिन गाय की महिमा कुछ इस तरह बखानी जाती है जैसे गाय धरती पर पैदा नहीं होती, “आन रास्ते” सीधे स्वर्ग से उतर आती है !

16 अगस्त को दोपहर साढ़े तीन बजे ”आज तक” पर एक कार्यक्रम दिखाया गया – ‘गाय एक- वरदान अनेक’। इस कार्यक्रम में यहाँ तक बताया गया कि गोबर में लक्ष्मी और गोमूत्र में तमाम पवित्र नदियों का जल होता है। यह भी दावा किया गया कि पंचगव्य से धन की कमी दूर होती है। काश रघुराम राजन इसे समझ पाते तो भारत का रिज़र्व बैंक गले तक सोने-चाँदी में डूबा रहता। करना क्या था… गोबर और गोमूत्र से बना पंचगव्य ही तो पीना था ! साथ में बैंक के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी पिला देना था, बस ! लेकिन नहीं किया। अब ”आज तक” देखकर दर्शक अगर रघुराम राजन को मूर्ख माने तो ग़लत क्या है ?

बहरहाल यहाँ बात सोशल मीडिया में तैरती एक तस्वीर की हो रही है। कार्यक्रम के प्रसारण का अता-पात नहीं है (किसके पास फ़ुर्सत है कि लगातार चैनल देखे) लेकिन जो कुछ भी पर्दे पर है वह बताता है कि पत्रकारिता में पंचगव्य का नशा सिर चढ़कर बोल रहा है। तस्वीर से साफ़ है कि गाय को एक पवित्र और विशिष्ट प्राणी बताने की कोशिश है, acheterdufrance.com लेकिन इस उत्साह में विज्ञान की ओर से झूठी गवाही देने का पाप भी किया गया है। ज़रा तस्वीर पर गौ़र करें, कहा जा रहा है-

  1. गाय की कृपा विज्ञान भी मानता है.

2. गाय एकमात्र प्राणी है जो आक्सीजन ही ग्रहण करता है और आक्सीजन ही छोड़ता है।

इन बातों का आधार क्या है ? गाय की ”कृपा” विज्ञान भी मानता है इसका क्या अर्थ हुआ ? क्या किसी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय विज्ञान कान्फ्रेंस में गाय के प्रति कृतज्ञता ज्ञापन किया गया ? अगर ”आज तक” के प्रोड्यूसर को पता है तो छिपा कर न रखे। बताए। यह एक्सक्लूसिव ख़बर है !

फिर आक्सीजन ग्रहण करने और छोड़ने की बात तो और ज़बरदस्त है। हिंदीपट्टी के स्कूलों में गाय पर निबंध लिखे बिना किसी को मुक्ति नहीं मिलती, लेकिन ऐसा दावा तो आज तक किसी ने नहीं किया। सच्चाई यह है कि गाय ही नहीं, तमाम जानवर जो साँस छोड़ते हैं, उसमें कई गैस होती हैं, ऑक्सीजन भी होती है। इंसानों के साथ भी ऐसा ही है। इस प्रक्रिया में थोड़ा बहुत फ़र्क़ होता है, लेकिन ऐसा नहीं कि गाय केवल आक्सीजन छोड़ती है जैसा कि ”आज तक” का दावा है। नीचे के बक्से में देख सकते हैं कि साँसों के आने-जाने के तिलस्म में और क्या-क्या है..

oxygen

बहरहाल, बड़ा सवाल यह है कि क्या ”आज तक” के संपादक नंबर एक की कुर्सी के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हैं। पिछले कुछ समय से लगातार शीर्ष पर रहना उसके लिए मुश्किल हो रहा है, लेकिन इसके लिए तथ्यों की बलि देना कहाँ तक उचित है। ”आज तक” के संपादक सुप्रिय प्रसाद यह कहकर नहीं बच सकते कि यह सब चैनल के कार्यक्रम ”धर्म” में दिखाया जाता है। क्या धर्म बेवकूफ़ बनाने का धंधा है ?

क्या “आज तक” अपने फ़ायदे के लिए धर्म के नाम पर अंधविश्वासों में धँसी जनता को और गहरे डुबोाने का पाप नहीं कर रहा है ? ( तमाम और चैनल भी कर रहे हैं) अंधविश्वास फैलाना क़ानून की नज़र में जुर्म है, लेकिन ”आज तक” के संपादकों की ख़ुशकिस्मती और देश का दुर्भाग्य है कि क़ानून की इस धारा का इस्तेमाल करने का हौसला व्यवस्था में नहीं है। यह कहें कि पूरी व्यवस्था ही अंधविश्वास में डूबी है।

वैसे, इस कार्यक्रम के प्रोड्यूसर और संपादकों को चाहिए कि नोएडा फ़िल्मसिटी के गंधाते नाले से सटी टीवी टुडे की बिल्डिंग को दुर्गंधमुक्त करने में अपना योगदान दें। वे अपने मालिक अरुण पुरी को बताएँ कि अगर इमारत की हर मंज़िल पर गौशाला खोल दी जाए तो इतनी ऑक्सीजन पैदा होगी कि दुर्गंध का नामो निशान नहीं बचेगा और वहाँ काम करने वालों में दमे की संभावित बीमारी का ख़तरा भी टलेगा। अरुण पुरी इस तरह के कार्यक्रम से  टीआरपी नंबर लाने वालों को इनाम तो देंगे ही, लगे हाथ ऐसा सुझाव देकर वे और भी कुछ हासिल कर सकते हैं।

इस कार्यक्रम को पेश करने वाली एंकर पर वाक़ई दया आती है। दर्शक न संपादक को जानते हैं और न प्रोड्यूसर को। तस्वीर देखकर  एक ने कहा—यह लड़की तो पढ़ी लिखी लगती थी !

थी !…थी..!…थी.. !…थी…!

ramdev

18 COMMENTS

  1. Greetings from Los angeles! I’m bored to tears at work so I decided to browse your site on my iphone during lunch break. I really like the information you present here and can’t wait to take a look when I get home. I’m shocked at how quick your blog loaded on my cell phone .. I’m not even using WIFI, just 3G .. Anyways, very good blog!

  2. Attractive section of content. I just stumbled upon your site and in accession capital to assert that I get in fact enjoyed account your blog posts. Anyway I will be subscribing to your augment and even I achievement you access consistently fast.

  3. Incredible! This blog looks exactly like my old one! It’s on a completely different topic but it has pretty much the same page layout and design. Outstanding choice of colors!

  4. It is perfect time to make some plans for the future and it’s time to be happy. I’ve read this post and if I could I desire to suggest you few interesting things or suggestions. Perhaps you could write next articles referring to this article. I wish to read more things about it!

  5. Thank you for the auspicious writeup. It in fact was a amusement account it. Look advanced to far added agreeable from you! However, how could we communicate?

  6. Appreciating the time and effort you put into your website and detailed information you provide. It’s good to come across a blog every once in a while that isn’t the same unwanted rehashed material. Fantastic read! I’ve saved your site and I’m adding your RSS feeds to my Google account.

  7. you’re really a good webmaster. The site loading speed is incredible. It seems that you’re doing any unique trick. In addition, The contents are masterpiece. you’ve done a fantastic job on this topic!

  8. Magnificent items from you, man. I’ve take into account your stuff previous to and you’re just extremely great. I actually like what you have received right here, really like what you are stating and the way by which you say it. You’re making it enjoyable and you still care for to stay it smart. I cant wait to read far more from you. This is really a wonderful web site.

  9. Great blog here! Also your web site rather a lot up fast! What web host are you the use of? Can I get your affiliate hyperlink to your host? I want my site loaded up as quickly as yours lol

  10. Hello, i believe that i noticed you visited my website so i came to “go back the choose”.I am trying to to find things to improve my web site!I suppose its good enough to make use of a few of your ideas!!

  11. I’m really enjoying the design and layout of your blog. It’s a very easy on the eyes which makes it much more enjoyable for me to come here and visit more often. Did you hire out a designer to create your theme? Excellent work!

  12. I carry on listening to the news broadcast lecture about getting boundless online grant applications so I have been looking around for the top site to get one. Could you advise me please, where could i acquire some?

  13. I liked up to you will obtain carried out proper here. The sketch is attractive, your authored subject matter stylish. nevertheless, you command get got an impatience over that you wish be handing over the following. sick unquestionably come further previously once more as exactly the similar nearly very ceaselessly inside case you protect this increase.

  14. Hi there! I know this is kinda off topic however , I’d figured I’d ask. Would you be interested in trading links or maybe guest writing a blog post or vice-versa? My blog discusses a lot of the same topics as yours and I think we could greatly benefit from each other. If you’re interested feel free to send me an email. I look forward to hearing from you! Superb blog by the way!

  15. I’m still learning from you, as I’m trying to achieve my goals. I certainly love reading everything that is posted on your website.Keep the information coming. I enjoyed it!

  16. Fantastic items from you, man. I’ve consider your stuff prior to and you’re simply extremely excellent. I actually like what you have bought here, really like what you’re stating and the way in which you are saying it. You’re making it enjoyable and you still care for to keep it wise. I can not wait to learn much more from you. This is actually a wonderful site.

  17. I really appreciate this post. I’ve been looking everywhere for this! Thank goodness I found it on Bing. You have made my day! Thank you again

LEAVE A REPLY