Home अख़बार जेएनयू के राजनीतिविज्ञानी प्रोफेसर गोपाल गुरु होंगे EPW के नए संपादक  

जेएनयू के राजनीतिविज्ञानी प्रोफेसर गोपाल गुरु होंगे EPW के नए संपादक  

SHARE

पिछले साल विवादों में रही प्रतिष्ठित पत्रिका इकनॉमिक एंड पॉलिटिकल वीकली (EPW) के अगले संपादक प्रोफेसर गोपाल गुरु होंगे। ऐसी घोषणा पत्रिका को चलाने वाले समीक्षा ट्रस्‍ट ने गुरुवार को की है।

प्रोफेसर गुरु फिलहाल जवारलाल नेहरू युनिवर्सिटी में राजनीतिशास्‍त्र पढ़ा रहे हैं। इससे पहले वे पुणे और दिल्‍ली युनिवर्सिटी में पढ़ा चुके हैं। उन्‍होंने कई किताबें भी लिखी हैं। ट्रस्‍ट ने उन्‍हें पांच साल की कार्यावधि के लिए संपादक नियुक्‍त किया है।

पिछले साल जुलाई में वरिष्‍ठ पत्रकार परंजय गुहा ठाकुरता ने के संपादक के पद से इस्‍तीफा दे दिया था जब उनकी एक स्‍टोरी पर अडानी समूह की ओर से मानहानि का नोटिस आ गया था और ट्रस्‍ट ने ठाकुरता पर आरोप लगाया था कि उन्‍होंने ट्रस्‍ट को भरोसे में लिए बगैर कारोबारी घराने के खिलाफ स्‍टोरी कर दी। इसके बाद समीक्षा ट्रस्‍ट की काफी सार्वजनिक आलोचना हुई थी।

पिछले दिनों कच्‍छ की एक अदालत ने अडानी द्वारा दायर मानहानि के मुकदमे को खारिज करते हुए परंजय की लिखी स्‍टोरी को दोबारा प्रकाशित करने वाले दि वायर को आदेश दिया कि वह स्‍टोरी में से एक वाक्‍य और एक शब्‍द हटा लें।

EPW ने पिछले साल ही नोटिस आने के बाद स्‍टोरी को अपनी वेबसाइट से हटा लिया था। बाद में उसे दि वायर ने पुनर्प्रकाशित किया जिसके चलते उसके ऊपर भी मुकदमा हो गया था।


EPW के संपादक पद से परंजय गुहा ठाकुरता का इस्‍तीफ़ा, अडानी के घोटाले पर स्‍टोरी वेबसाइट से गायब

अडानी की मानहानि 16 नवंबर को ही ”खारिज” हो चुकी थी, लेकिन खबर किसने दबायी?

EPW की प्रतिष्‍ठा को बचाने के लिए दुनिया भर के विद्वानों ने लिखा समीक्षा ट्रस्‍ट के नाम खुला पत्र

LEAVE A REPLY