Home अख़बार पैराडाइज़ पेपर्स: हिंदुस्‍तान टाइम्‍स ने बरमूडा में कंपनी बनाकर सात करोड़ का...

पैराडाइज़ पेपर्स: हिंदुस्‍तान टाइम्‍स ने बरमूडा में कंपनी बनाकर सात करोड़ का घाटा पाट दिया!

SHARE
Shobhana Bhartia

अंग्रेज़ी में हिंदुस्‍तान टाइम्‍स और हिंदी में हिंदुस्‍तान का प्रकाशन करने वाले हिंदुस्‍तान टाइम्‍स समूह का नाम भी पैराडाइज़ पेपर्स में प्रमुखता से आया है। इस समूह ने बरमूडा में एक कंपनी बनाई थी जिसका नाम था Go4i.com (बरमूडा) लिमिटेड। कंपनी सीधे समूह ने नहीं बनाई बल्कि अपनी अनुषंगी एचटीबीसी लिमिटेड के माध्‍यम से बनाई जिसका पंजीकृत दफ्तर मुंबई में है और जिसकी स्‍वामी एचटी इंटरैक्टिव मीडिया प्रॉपर्टीज़ है जो दिल्‍ली के कस्‍तूरबा गांधी मार्ग स्थित हिंदुस्‍तान टाइम्‍स हाउस से काम करती है।

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की 2003-04 की वार्षिक रिपोर्ट में Go4i.com नामक कंपनी का जिक्र एक अनुषंगी के रूप में आता है जिसमें कहा गया है कि एचटी की बरमूडा स्थित अनुषंगी में कोई शेयरधारिता नहीं है। कंपनी पंजीयक आरओसी को जमा कराए दस्‍तावेजों में हालांकि 2004 से लेकर 2016 के बीच बरमूडा की कंपनी का कोई जिक्र नहीं है, न ही बाद के वर्षों में इस ऑफशोर कंपनी की स्थिति या कारोबार का कहीं कोई जिक्र है।

ऐपलबी के काग़जात बताते हैं कि हिंदुस्‍तान टाइम्‍स समूह की अध्‍यक्ष शोभना भरतिया और उनके पुत्र प्रियव्रत भरतिया दोनों बरमूडा स्थित इकाई और एचटीबीसी के निदेशक हैं। Go4i.com के अन्‍य अधिकारियों में मनीषा गुप्‍ता, पीयूष गुप्‍ता, अनिल आहूजा, राजन कोहली, हिरेन पटेल और रवि सेठ का नाम आता है।

पीयूष गुप्‍ता और अनिल आहूजा Go4i.com (इंडिया) लिमिटेड में निदेशक थे जबकि राजन कोहली 2003-04 के दौरान हिंदुस्‍तान टाइम्‍स के कार्यकारी निदेशक रहे। इसी दौश्रान रवि सेठ हिंदुस्‍तान टाइम्‍स के निदेशक (वित्‍त) थे।

Go4i.com (इंडिया) लिमिटेड के निदेशकों में एक शख्‍स विरेंद्र कुमार चारोरिया हैं जो शोभना भरतिया, प्रियव्रत भरतिया और शमित भरतिया की तरह हिदुस्‍तान टाइम्‍स लिमिटेड के पूर्णकालिक निदेशक हैं।

हिंदुस्‍तान टाइम्‍स लिमिटेड ही भारत में सूचीबद्ध कंपनी एचटी मीडिया लिमिटेड को चलाती है और उसमें इसका 69.5 फीसदी हिस्‍सा है। इसकी सालाना रिपोर्ट कहती है कि 31 अक्‍टूबर, 2003 को समाप्‍त हुए वित्‍त वर्ष में Go4i.com (बरमूडा) लिमिटेड को 3.15 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है जबकि इसके पहले के वर्ष में उसे 4.1 करोड़ का घाटा हुआ। कुल सात करोड़ से ज्‍यादा का घाटा दिखाने के बावजूद बरमूडा की कंपनी के कारोबार और राजस्‍व का इन दो वर्षों में कहीं कोई जि़क्र नहीं आता है।

Go4i.com (इंडिया) से जुड़े आरओसी के दस्‍तावेज़ बताते हैं कि यह खुद मॉरीशस स्थित Go4i.com (मॉरीशस) लिमिटेड की अनुषंगी है। भारतीय इकाई का पंजीकरण मार्च 2000 में कराया गया था जिसके अधिसंख्‍य शेयर (99.92 फीसदी) 31 मार्च, 2016 तक मॉरीशस वाली इकाई के पास थे।

शोभना भरतिया की ओर से इंडियन एक्‍सप्रेस को भेजी गई प्रतिक्रिया में कहा गया है कि बरमूडा की इकाई सारी मंजूरियां लेने के बाद खोली गई थी और यह कंपनी स्‍वामिन, इंडोशियन इंटरनेट होल्डिंग्‍स (सह-निवेशक) और एचटीबीसी (हिंदुस्‍तान टाइम्‍स की 100 फीसदी शेयरधारिता वाली अनुषंगी) के संयुक्‍त उपक्रम के रूप में इंटरनेट व संबद्ध कारोबार चलाने के लिए स्‍थापित की गई थी। उनके मुताबिक 2004 में ही इस कंपनी को सभी मंजूरियों के बाद बंद कर दिया गया।


दि इंडियन एक्‍सप्रेस से साभार

 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.