Home अख़बार मीडिया, जनता और नेता: बस एक सीडी आदमी को कौवा बना देती...

मीडिया, जनता और नेता: बस एक सीडी आदमी को कौवा बना देती है!

SHARE

दिल्‍ली में आम आदमी पार्टी की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे संदीप कुमार की कथित ”सेक्‍स स्‍कैंडल” सीडी ने चौबीस घंटे से भी कम वक्‍त के भीतर टीआरपी के भूखे टीवी चैनलों, लोकप्रियता के मारे पार्टी अध्‍यक्ष व मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मानवाधिकारों की चिंता करने वाले राजधानी के कुछ सरोकारी चेहरों की पोल एक साथ खोल कर रख दी है। इस सीडी को ले‍कर आई प्रतिक्रियाओं में जितनी जल्‍दीबाज़ी देखी गयी, वैसा शायद हालिया अतीत में कभी भी नहीं हुआ था। ”कौवा कान ले उड़ा” वाली मशहूर कहावत का इससे बेहतर उदाहरण हमारे दौर में नहीं मिलेगा, वो भी पूरी बेशर्मी से।



न कोई शिकायत, न पुलिस केस, न कोई जोर-जबर के संकेत, कुल मिलाकर दो व्‍यक्तियों की परस्‍पर सहमति से निजी स्‍पेस में बनाए गए अंतरंग संबंध की एक वीडियो रिकॉर्डिंग को बुधवार को टीवी के परदे पर ‘सेक्‍स स्‍कैंडल’ का नाम दे दिया गया और वीडियो से चुनिंदा शॉट व तस्‍वीरें चलाने की होड़ चैनलों में मच गई। उधर, चैनलों के पूछने पर बिना किसी को पलटवार का मौका देते हुए नैतिकता के ऊंचे पायदान पर खड़े दिल्‍ली सरकार और आआपा के मुखिया ने बिना सोचे-समझे संदीप कुमार को निलंबित कर डाला और गुरुवार को दिए अपने 20 मिनट के वीडियो बयान में उनके निजी संबंध को ”मूवमेंट को बदनाम करने वाला” करार दिया।

उधर, एबीपी न्‍यूज़ के एक नौजवान पत्रकार द्वारा जल्‍दबाज़ी में की गई एक ट्वीट को कुछ वरिष्‍ठ पत्रकार सोशल मीडिया पर ले उड़े और उसके आधार पर वीडियो को पुराना साबित करने लगे, गोकि उक्‍त पत्रकार ने बाद में यह कहते हुए कि उसने सूत्र पर बिना पुष्टि किए भरोसा कर लिया था, उस ट्वीट को डिलीट भी कर डाला। उसके बाद वाले ट्वीट पर हालांकि उन लोगों ने ध्‍यान नहीं दिया जिनकी मंशा संदीप कुमार को ‘बेगुनाह’ साबित करने की थी।

 

j1

इस पूरे खेल में सबसे बड़े आरोपी के रूप में अगर कोई सामने आता है तो वो है एबीपी न्‍यूज़, जिसने ओमप्रकाश नाम के एक शख्‍स से मिले वीडियो को लेकर अपने परदे पर गिरती टीआरपी संभालने के लिए आग लगा दी। चूंकि दीपक चौरसिया का इंडिया न्‍यूज़ हूबहू एबीपी न्‍यूज़ को फॉलो कर के अपनी स्‍क्रीन चलाता है, लिहाजा उसके संपादक नंगई परोसने में एकाध कदम आगे निकल गए और गुरुवार को दिन भी संदीप कुमार की ही खबर को ताने रहे। सबसे दुर्भाग्‍यपूर्ण घटनाक्रम मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल का फैसला रहा जिन्‍होंने उक्‍त सीडी को ‘आपत्तिजनक’ बताते हुए संदीप कुमार को निलंबित कर दिया और गुरुवार को एक विस्‍तृत वीडियो बयान में परस्‍पर सहमति से बनाए गए संबंध को आम आदमी पार्टी और पूरे मूवमेंट पर बदनुमा दाग बता डाला।

इस मामले में कथित दोषी संदीप कुमार भी पूरी तरह बेदाग नहीं कहे जा सकते क्‍योंकि प्रथम दृष्‍टया उन्‍हें अपने बचाव में निजता के अधिकार की बात कायदे से कहनी चाहिए थी, लेकिन उन्‍होंने एक मंझे हुए नेता की तरह पहले घिसा-पिटा डायलॉग मारा कि ”सीडी में मैं नहीं हूं और इसकी जांच करवायी जानी चाहिए”। बाद में माहौल का फायदा उठाते हुए उन्‍होंने दलित कार्ड खेल दिया और कहा कि ”मुझे दलित होने के नाते फंसाया जा रहा है।” उनके इन दो बयानों ने उन लोगां को मुसीबत में डाल दिया जो बेगानी शादी में अब्‍दुल्‍ला दीवाने की तरह उनके पक्ष में दलीलें गढ़ रहे थे।

इस घटनाक्रम में सबसे दिलचस्‍प मोड़ तब आया जब एबीपी न्‍यूज़ के पंजाब में तैनात रिपोर्टर और आम आदमी पार्टी को कवर करने वाले जैनेंद्र कुमार ने एक ट्वीट किया कि सीडी पुरानी है। इस ट्वीट को कुछ वरिष्‍ठ पत्रकार ले उड़े और उन्‍होंने जैनेंद्र की ट्वीट को ख़बर की तरह बरतते हुए दावा करना शुरू कर दिया कि सीडी पुरानी है। इस ख़तरे का अंदाज़ा जैनेंद्र को पहले से था। जैनेंद्र ने मीडियाविजिल से फोन पर हुई बातचीत में बताया कि उनसे जब उनके सहयोगियों ने पूछा कि सीडी के पुराने होने का क्‍या सुबूत है, तो वे नहीं दे पाए। वे कहते हैं, ”मैंने जिस सूत्र के हवाले से यह बात लिखी थी, उस पर मैं फेस वैल्‍यू पर यकीन करता हूं लेकिन वो ऑन दि रिकॉर्ड नहीं आ सकता। मेरे पास कोई साक्ष्‍य नहीं था। मुझे कायदे से ट्वीट को प्रश्‍नवाचक के साथ लिखना चाहिए था। लोगों ने उसे ख़बर के तौर पर ले लिया।”

j2

जैनेंद्र कहते हैं कि अपनी इस ग़लती का अहसास होते ही उन्‍होंने  ट्वीट को डिलीट कर डाला और नया ट्वीट किया कि उन्‍होंने सूत्र की पुष्टि किए बगैर सीडी को पुराना बता दिया था। उन्‍होंने इसमें अफ़सोस जताया कि इस बहाने लोग उनके संस्‍थान को निशाना बना रहे हैं। जैनेंद्र ने कहा कि अब तो तीर कमान से निकल चुका है, इसलिए डैमेज कंट्रोल का कोई फायदा नहीं है।

तीर कमान से सुबह ही निकल चुका था। वरिष्‍ठ पत्रकार शीतल पी. सिंह ने फेसबुक पर जैनेंद्र की पुरानी ट्वीट का स्‍क्रीनशॉट लगाते हुए शीर्षक दिया, ”एबीपी पत्रकार ने खोली पोल”।

इतना ही नहीं, अंग्रेज़ी के पत्रकार शिवम विज ने भी जैनेंद्र के ट्वीट का स्‍क्रीन शॉट लगाते हुए हफिंगटन पोस्‍ट पर ख़बर चला दी और एबीपी समेत केजरीवाल को कठघरे में खड़ा कर दिया, हालांकि जैनेंद्र के बाद वाले ट्वीट का उन्‍होंने जि़क्र तक नहीं किया।

शाम होते-होते हफिंगटन पोस्‍ट की वेबसाइट आम आदमी पार्टी का मुखपत्र बन गई। आम आदमी पार्टी के संगठन निर्माण विभाग के राष्‍ट्रीय संयुक्‍त सचिव अक्षय मराठे ने एक लेख इस साइट के ब्‍लॉग पर लिखा जिसका शीर्षक था, ”संदीप कुमार सेक्‍स स्‍कैंडल ने आम आदमी पार्टी की स्‍वच्‍छ छवि को किया दोबारा पुष्‍ट”। इसमें सेक्‍स स्‍कैंडल को बिना कोट्स के लिखा गया है। इसके अलावा हफिंगटन पोस्‍ट ने अरविंद केजरीवाल के वीडियो संदेश पर केंद्रित एक ख़बर अलग से भी चलायी। एक दिन के भीतर इस मसले पर तीन-तीन खबरों को चलाने वाले हफिंगटन पोस्‍ट के भारतीय प्रतिनिधि शिवम विज पर इस प्रकरण में सवाल उठने शुरू हो गए हैं कि क्‍या वे इस प्रतिष्ठित वेबसाइट से आम आदमी पार्टी को मदद पहुंचा रहे हैं।

बहरहाल, संदीप कुमार के दलित कार्ड को भी थोड़ा समर्थन ज़रूर मिला है। इस बारे में शीतल पी. सिंह ने निम्‍न पोस्‍ट लिखी है:

 

22 COMMENTS

  1. Hey I wanted to say hi. The words in your post seem to be running off the screen in Ie. I’m not sure if this is a format issue or something to do with internet browser compatibility but I figured I’d comment to let you know. The style and design look great though! Hope you get the problem resolved soon. Thanks!!

  2. Howdy! Someone in my Facebook group shared this site with us so I came to check it out. I’m definitely loving the information. I’m book-marking and will be tweeting this to my followers! Great blog and terrific style and design.

  3. I’m extremely impressed with your writing talents and also with the structure in your weblog. Is that this a paid subject or did you customize it your self? Either way stay up the nice high quality writing, it’s uncommon to see a great weblog like this one nowadays..

  4. F*ckin’ awesome things here. I am very glad to see your article. Thanks a lot and i am looking forward to contact you. Will you kindly drop me a e-mail?

  5. Hi, i think that i saw you visited my weblog thus i came to “return the favor”.I’m trying to find things to improve my website!I suppose its ok to use a few of your ideas!!

  6. Hello there! I know this is kinda off topic but I was wondering if you knew where I could find a captcha plugin for my comment form? I’m using the same blog platform as yours and I’m having trouble finding one? Thanks a lot!

  7. I’m curious to find out what blog system you’re using? I’m experiencing some small security problems with my latest website and I’d like to find something more secure. Do you have any solutions?

  8. Ive by no means read anything like this before. So nice to find somebody with some original thoughts on this subject, really thank you for starting this up. this website is one thing which is essential on the internet, a person having a little originality. beneficial job for bringing some thing new towards the world wide web!

  9. Sweet blog! I found it while searching on Yahoo News. Do you have any tips on how to get listed in Yahoo News? I’ve been trying for a while but I never seem to get there! Many thanks

  10. certainly like your website but you need to check the spelling on several of your posts. Many of them are rife with spelling problems and I find it very troublesome to tell the truth nevertheless I will surely come back again.

  11. I would like to thnkx for the efforts you have put in writing this site. I am hoping the same high-grade web site post from you in the upcoming as well. Actually your creative writing abilities has encouraged me to get my own website now. Really the blogging is spreading its wings quickly. Your write up is a great example of it.

  12. Outstanding post but I was wondering if you could write a litte more on this subject? I’d be very grateful if you could elaborate a little bit more. Thank you!

  13. Hey there I just wanted to say hello. The words in your post seem to be running off the screen in Opera. I’m not sure if this is a formatting issue or something to do with web browser compatibility but I figured I’d say this to let you know. The layout look great though! Hope you get the problem fixed soon. Cheers.

  14. Along with the whole thing which appears to be developing inside this subject material, all your opinions are generally rather radical. However, I am sorry, but I do not subscribe to your whole strategy, all be it refreshing none the less. It seems to everyone that your opinions are not completely validated and in fact you are yourself not even entirely confident of your assertion. In any case I did appreciate examining it.

  15. Hi there! I just wanted to ask if you ever have any trouble with hackers? My last blog (wordpress) was hacked and I ended up losing many months of hard work due to no data backup. Do you have any solutions to stop hackers?

  16. I know this if off topic but I’m looking into starting my own blog and was wondering what all is needed to get set up? I’m assuming having a blog like yours would cost a pretty penny? I’m not very web smart so I’m not 100 sure. Any recommendations or advice would be greatly appreciated. Appreciate it

LEAVE A REPLY