Home ख़बर योगी ने विधानपरिषद में माना पतंजलि के 17 प्रोडक्ट जाँच में फेल

योगी ने विधानपरिषद में माना पतंजलि के 17 प्रोडक्ट जाँच में फेल

SHARE

योगी आदित्यनाथ और बाबा रामदेव के बीच बहुत पुराना राग है। मौका पाकर योगी, रामदेव के साथ योग करते भी नजर आ जाते हैं, लेकिन मसला कुछ ऐसा है कि उनकी सरकार भी रामदेव का बचाव नहीं कर पाई। उत्तर प्रदेश विधानपरिषद में सरकार ने माना कि सरकारी जांच में पंतजलि के 17 उत्पाद मानकों के अनुरूप नहीं पाए गए।

विधान परिषद में कांग्रेस सदस्य दीपक सिंह ने पतंजलि के बारे में तमाम प्रश्न पूछे थे। उसमें एक सीधा सवाल था – क्या पतंजलि के सभी प्रोडक्ट शुद्ध और सही हैं?

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से आए लिखित जवाब में कहा गया कि-  1 अप्रैल 2017 से 30 नवंबर 2018 के बीच सरकार के खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन ने 113 नमूने जांच के लिए जिसमें प्राप्त कुल 77 विश्लेषण परिणामों में से कुल 17 मानकों के अनुरूप नहीं पाए गए।

जवाब में ये कहा गया कि इस संबंध में पांच मुकदमे सरकार की ओर से दायर की गई है और बाकी के बारे में विधिक कार्यवाही चल रही है।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.