Home ख़बर गोगोई को क्‍लीन चिट का विरोध कर रही महिलाएं हिरासत में, पत्रकारों...

गोगोई को क्‍लीन चिट का विरोध कर रही महिलाएं हिरासत में, पत्रकारों को भी थाने ले जाया गया

SHARE

सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई पर यौन उत्‍पीड़न के आरोप के मामले की जांच कर रही आंतरिक समिति द्वारा उनहें सोमवार को क्‍लीन चिट दिए जाने के खिलाफ आज सुबह विरोध प्रदर्शन कर रहे वकीलों, महिला कार्यकर्ताओं और एक्टिविस्‍टों को हिरासत में ले लिया गया है।

प्रदर्शन कवर करने गए पत्रकारों को भी हिरासत में लिया गया है। न्‍यूज़लॉन्‍ड्री के रिपोर्टर गौरव ने ट्वीट कर के लिखा है:

मौके से एक वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता ने मीडियाविजिल को बताया कि सबको पुलिस वैन में बैठाकर मंदिर मार्ग थाने ले जाया गया है। हिरासत में ली गई 56 महिलाएं हैं और चार पुरुष रिपोर्टर। सुप्रीम कोर्ट के आसपास के इलाके में धारा 144 लगा दी गई है।

कुछ प्रदर्शनकारी महिलाओं के साथ बदसलूकी की भी बात आ रही है।

1 COMMENT

  1. आज जस्टिस रंजन गोगोई को क्लीन चिट देने के विरोध में सुप्रीम कोर्ट के बाहर 50 से ऊपर महिलाएं प्रदर्शन कर रही थी और चार पत्रकार भी विरोध प्रदर्शन को कवर करने के लिए मौजूद थे । पुलिस ने उन सब को गिरफ्तार कर लिया है । बल्कि संविधान की रक्षार्थ अगर जरूरी था तो उन सब को वही गोली से उड़ा देना चाहिए था ।सभी लोगों को यह ज्ञान नहीं होता कि हमारे मंत्री ,हमारे जज साहब संविधान की शपथ लेते हैं । उस से पूर्व उन्हें ब्रह्मचर्य के व्रत की भी दीक्षा दी जाती है जिसके तहत एक पत्नी व्रत अपनाते हुए उन्हें राम जैसा जीवन जीने की शपथ लेनी पड़ती है। परंतु बड़े दुर्भाग्य का विषय है कि विगत कुछ सालों से हमारे मंत्रियों यहां तक कि राज्यपालों और अब तो हद हो गई कि माननीय मुख्य न्यायाधीश पर कुछ निम्न श्रेणी की मानसिकता वाली महिलाएं झूठे मनगढ़ंत आरोप लगाती हैं । यह अत्यंत ही निंदनीय है इसकी इससे विधायिका , कार्यपालिका ,न्यायपालिका खतरे में पड़ती है । अजी संविधान खतरे में पड जाता है।अब आप जानते ही हैं चोरी, डकैती, बलात्कार , बैंक का गबन, छीना झपटी यह सारे अपराध करने वाले कौन होते है । कोई माल्या , अबानी जैसे बड़े लोग अपराध थोड़ी करते हैं । अच्छा यह बताइए क्या मारुति के मजदूरों ने एचआर मैनेजर की हत्या नहीं की ? क्या खुद मारुति के इतने बड़े जापानी स्वामी ओसामू सुजुकी साहब ने खुद ही मजदूरो के दोस्त एचआर मैनेजर अवनीश कुमार देव की 18 जुलाई 2012 को हत्या करवाई थी ?और क्या जब चंडीगढ़ हाई कोर्ट के जज ने कहा था कि मारुति के मजदूरों को जमानत दे दी तो विदेशी पूंजी निवेश प्रभावित होगा तो क्या वह ओसामू सुजुकी की दलाली कर रहे थे

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.