Home ख़बर सपा नेता ऋचा सिंह के साथ फोन पर अभद्रता, हत्या की धमकी...

सपा नेता ऋचा सिंह के साथ फोन पर अभद्रता, हत्या की धमकी और फर्जी FIR

SHARE
फाइल फोटो

समाजवादी पार्टी नेता और इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ की पूर्व अध्यक्ष ऋचा सिंह को फोन पर जान से मारने और अभद्र धमकियां मिल रही थी. किन्तु पुलिस ने ऋचा सिंह के खिलाफ ही क्रॉस एफआइआर दर्ज किया है. घटना 16 सितंबर की है.

दरअसल सपा नेता ऋचा सिंह को फोन पर हत्या और अभद्र धमकियां मिल रही थी.जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस में दर्ज़ कराई. जांच के बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ कर अदालत में पेश किया. पेशी के दौरान आरोपी और शिकायतकर्ता के बीच कहा सुनी हुई, उसके बाद पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत ऋचा सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया.

803-2019 (1)

 

ऋचा सिंह ने फोन पर मीडिया विजिल से बात करते हुए कहा कि,उन्हें बीते कुछ दिनों से फोन पर जान से मारने और अभद्र भाषा में लगातार धमकी मिल रही थी.जिसकी शिकायत उन्होंने पुलिस में दर्ज कराई थी. जांच के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया.पेशी के दौरान ऋचा सिंह भी कोर्ट में मौजूद थीं. उनका कहना है कि इस दौरान आरोपी अदालत में झूठ बोल रहा था कि उसने कोई अपराध नहीं किया इस बात पर उन्होंने ऊँची आवाज में आरोपी को डांट दिया. उसके बाद पुलिस ने अपनी ओर से उनके (ऋचा सिंह) के खिलाफ आइपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत क्रॉस एफआइआर दर्ज किया.

FIR-I.I.F.-I_31623007190810 (2)

 

उन्होंने बताया – “और तो और मुझ पर fir पुलिस ने की है, वो तो अपने को ग़लत कभी मानेगी नही, यानी कि मैं अपनी सुरक्षा के लिये गयी,और मेरे ऊपर ही मुकदमा दर्ज हो गया!
अगर यूनिवर्सिटी की अध्यक्ष रही लडक़ी के साथ ऐसा हो रहा है तो आम लड़की तो पुलिस के पास जाएगी ही नहीं.

इलाहाबाद के कर्नलगंज थाने में एसआइ अशोक कुमार की शिकायत पर पुलिस ने सपा नेता ऋचा सिंह और उनके अज्ञात साथियों के खिलाफ आइपीसी की धारा 147,149,323,504,353,332 और 506 के तहत मामला दर्ज किया है.

सपा नेता ऋचा सिंह का कहना है कि सबसे बड़ी बात प्रशासन की असंवेदनशीलता और अपराधियों को बचाने का प्रयास है क्रोस एफआइआर . जिसके पीछे सत्ताधारी पार्टी का दबाव हो सकता है.

इस घटना पर वरिष्ठ समाजवादी नेता चंचलजी का फेसबुक वाल:

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.