Home ख़बर UP: ग़ाज़ीपुर के बाद अब अमेठी में राजनीतिक हत्‍या, मृतक स्‍मृति ईरानी...

UP: ग़ाज़ीपुर के बाद अब अमेठी में राजनीतिक हत्‍या, मृतक स्‍मृति ईरानी का सहयोगी

SHARE

शुक्रवार रात उत्‍तर प्रदेश के ग़ाज़ीपुर स्थित सलारपुर में जिला पंचायत सदस्‍य विजय कुमार यादव की रात में सोते समय की गई हत्‍या के बाद अब अमेठी में एक पूर्व ग्राम प्रधान की हत्‍या हो गई है. 17वीं लोकसभा के चुनाव में कांग्रेस के पारंपरिक गढ़ में सेंध लगाते हुए राहुल गांधी को मात देने वाली स्मृति ईरानी के एक क़रीबी सहयोगी सुरेंद्र सिंह को शनिवार रात को कुछ अज्ञात बदमाशों ने गोली मार कर हत्या कर दी.

सुरेंद्र सिंह पर रविवार तड़के करीब 3 बजे गोली चलाई गई जिसके बाद उन्हें लखनऊ ले जाया गया मगर इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई.
पुलिस ने इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया है और उनसे पूछताछ जारी है.

सुरेंद्र सिंह बरौलिया गांव के पूर्व प्रधान थे. सुरेंद्र सिंह स्मृति ईरानी के करीबी सहयोगी के रूप में जाने जाते थे और लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान जूता वितरण प्रकरण के बाद चर्चा में आये थे.

चुनाव अभियान के दौरान बरौलिया का नाम सुर्खियों में आया था जब कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने स्मृति पर आरोप लगाया था कि उन्होंने राहुल गांधी को अपमानित करने के लिए वहां जूते बँटवाए.

स्मृति ईरानी सुरेंद्र सिंह के परिवार से मिलने के लिए दिल्ली से अमेठी के लिए रवाना हो चुकी हैं. मृत सुरेन्द्र सिंह के पुत्र ने इस हत्या के पीछे कांग्रेस पर संदेह प्रकट किया है.

इससे पहले गाज़ीपुर के सलारपुर में दो दिन पहले हत्‍या का एक मामला सामने आया था. गाज़ीपुर में भाजपा के केंद्रीय मंत्री रहे मनोज सिन्‍हा को गठबंधन प्रत्‍याशी अफ़ज़ाल अंसारी के हाथों हार का मुंह देखना पड़ा है.

थाना क्षेत्र सलारपुर (गोसदपुर) गांव निवासी जिला पंचायत सदस्य विजय कुमार यादव की शुक्रवार रात सोते समय गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. इसके बाद नवनिर्वाचित सांसद अफ़ज़ाल अंसारी, विधायक वीरेंदर यादव, जिला पंचायत सदस्य सत्या यादव, मन्नू अंसारी सहित महागठबंधन के तमाम समर्थक और नेता लाश को लेकर धरने पर बैठ गए थे.

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.