Home ओप-एड चुनाव आयोग को खुला पत्र: ‘प्रवासी मज़दूरों को भी मिले डाक से...

चुनाव आयोग को खुला पत्र: ‘प्रवासी मज़दूरों को भी मिले डाक से मतदान का अधिकार’

मशहूर सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड ने चुनाव आयोग के नाम एक खुला पत्र जारी किया है। उन्होने बताया है कि सिटीज़न फ़ार जस्टिस एंड पीस की ओर से भारतीय निर्वाचन आयोग को ज्ञापन भेजकर प्रवासी मज़दूरों को भी डाक के जरिये मतदान का अधिकार देने की मांग की गयी है। कहा गया है कि आयोग की उदासीनता से लगभग 10 करोड़ प्रवासियों का मताधिकार संकट में पड़ सकता है।

SHARE

 

 



 

3 COMMENTS

  1. बात केवल इतनी ही नहीं है कि उन्हें डाक से मतदान करने का अधिकार प्राप्त हो बल्कि उन्हें दोहरा मतदान करने का अधिकार भी प्राप्त होना चाहिए क्योंकि जिस राज्य में वह काम कर रहे हैं वहां की अर्थव्यवस्था में भी उनका एक बड़ा योगदान है इसलिए भले ही संविधान में उपयुक्त संशोधन करना पड़े पर समाज के सबसे वंचित परंतु समाज को सबसे ज्यादा देने वाले वर्ग को अगर दोहरा लाभ दे भी दिया जाए तो क्या फर्क पड़ता है है ।
    है तो चुनावी लाभ ही ना । कोई तात्कालिक भौतिक सुख सुविधा कहा है।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.