Home ख़बर प्रदेश बिहार: मधुबनी हमले के खिलाफ माले का राज्यव्यापी विरोध, हमलावरों की गिरफ्तारी...

बिहार: मधुबनी हमले के खिलाफ माले का राज्यव्यापी विरोध, हमलावरों की गिरफ्तारी की मांग

भाकपा माले राज्य सचिव ने कहा कि आज न केवल मधुबनी बल्कि गोपालगंज, मुजफ्फरपुर से लेकर चंपारण तक दलित-गरीबों के खिलाफ सामंती-अपराधियों का तांडव लगातार जारी है. ऐसा लगता है बिहार में सरकार नाम की कोई चीज रह ही नहीं गई है, बल्कि आज बिहार पूरी तरह सामंती-अपराधियों के ही चंगुल में है. नीतीश सरकार के तथाकथित सुशासन का दावा पूरी तरह से बेनकाब हो गया है. ये सामंती-अपराधी बिहार को एक बार फिर से पुराने दिनों में ले जाने पर आतुर हैं, लेकिन यह होने वाला नहीं है.

SHARE

बिहार में दलित-गरीबों पर लगातार बढ़ते हमले, हत्या व सरकारी जमीन से उनकी बेदखली के खिलाफ आज भाकपा-माले के राज्यव्यापी आह्वान पर पूरे राज्य में विरोध दिवस मनाया गया. भाकपा-माले के पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेन्द्र झा मधुबनी नगर थाना के सुदंरपुर भिठ्ठी गांव पहुंचे, जहां उन्होंने भाजपा समर्थित सामंती-अपराधी व मुखिया अरूण झा गिरोह के हमले में मारे गए ललन पासवान व अन्य घायल परिवारों से मुलाकात की.

भाकपा-माले ने सरकारी जमीन पर बसे सभी गरीबों की सुरक्षा की गारंटी की मांग सरकार से की है. ललन पासवान पर हमला सामंती अपराधियों द्वारा पूरे बिहार में दलित-गरीबों को सरकारी जमीन से बेदखल करने के चल रहे अभियान की ही अगली कड़ी है.

राजधानी पटना में राज्य कार्यालय में आयोजित विरोध दिवस में माले राज्य सचिव कुणाल, पार्टी की केंद्रीय कमिटी के सदस्य बृजबिहारी पांडेय, राज्य कमिटी के सदस्य उमेश सिंह, प्रदीप झा आदि नेताओं ने भाग लिया.

इस मौके पर माले राज्य सचिव कुणाल ने कहा कि आज न केवल मधुबनी बल्कि गोपालगंज, मुजफ्फरपुर से लेकर चंपारण तक दलित-गरीबों के खिलाफ सामंती-अपराधियों का तांडव लगातार जारी है. ऐसा लगता है बिहार में सरकार नाम की कोई चीज रह ही नहीं गई है, बल्कि आज बिहार पूरी तरह सामंती-अपराधियों के ही चंगुल में है. नीतीश सरकार के तथाकथित सुशासन का दावा पूरी तरह से बेनकाब हो गया है. ये सामंती-अपराधी बिहार को एक बार फिर से पुराने दिनों में ले जाने पर आतुर हैं, लेकिन यह होने वाला नहीं है.

Patna

मधुबनी में भाजपा समर्थित सामंती-अपराधी मुखिया अरुण झा द्वारा दलित-गरीब टोले पर हमले, ललन पासवान की हत्या और पूरे राज्य में सरकारी जमीन से गरीबों की बेदखली के खिलाफ #CPIML का राज्यव्यापी विरोध दिवस

Posted by CPIML – Liberation, Bihar on Friday, June 5, 2020

पटना के दीघा में पटना जिला के कार्यकारी सचिव जितेन्द्र कुमार, वरिष्ठ नेता रामकल्याण सिंह व वशिष्ठ यादव ने तख्ती लेकर मधुबनी की घटना का प्रतिरोध किया और सरकार से सामंती-अपराधियों पर लगाम लगाने की मांग की. पटना जिला के दुल्हिनबाजार, मसोढ़ी, पालीगंज, बिहटा आदि इलाकों में भी प्रदर्शन किए गए. सीवान में भी विरोध में कार्यक्रम आयोजित किये गए.

राज्यव्यापी प्रतिवाद के तहत आज मधुबनी के रहिका, लखनौर, बेरमा, बेनीपट्टी आदि इलाकों में माले कार्यकर्ताओं ने अपनी मांगों के नारों के साथ प्रदर्शन किया. ललन पासवान की हत्या के पीछे कुछ और नहीं बल्कि सामंती-अपराधी अरूण झा द्वारा गरीबों को सरकारी जमीन से बेदखल करने की नीयत से किया गया है. इस तरह की घटनाओं को प्रशासन का संरक्षण हासिल है. सुंदरपुर भिठ्ठी का मामला प्रशासन के संज्ञान में था फिर भी इस तरह की घटना घटी.

अन्य जिला केंद्रों पर भी आज राज्यव्यापी विरोध के कार्यक्रम हुए. जिसमें भारी संख्या में लोगों ने भागीदारी की.


विज्ञप्ति पर आधारित

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.