Home Corona ‘यूपी जाने की अनुमति दें, पैदल जाऊंगा और मज़दूरों की मदद करूंगा’-...

‘यूपी जाने की अनुमति दें, पैदल जाऊंगा और मज़दूरों की मदद करूंगा’- राहुल गांधी

केंद्र में भाजपा नीत, एनडीए सरकार अपने नए कार्यकाल का 1 साल पूरा कर रही है। इसी वक़्त कांग्रेस नेता, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस कर के - कोरोना काल में सरकार की नाकामी पर मुश्किल सवाल पूछे हैं। प्रेस कांफ्रेंस से आई पूरी रिपोेर्ट पढ़िए, हमारे साथी मयंक सक्सेना के द्वारा

SHARE

मंगलवार को दिल्ली में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपनी प्रेस कांफ्रेंस में एक प्रश्न के जवाब में, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की टिप्पणी का जवाब देते हुए कहा कि उनको अनुमति दे दी जाए, तो वे यूपी पैदल ही जाएंगे और रास्ते में जो गरीब मिलेगा उसकी मदद करेंगे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहुल गांधी की दिल्ली में प्रवासी श्रमिकों से मिलने और बात करने की तस्वीरों पर अपनी प्रेस कांफ्रेंस में ये टिप्पणी की थी। वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए हो रही, इस प्रेस कांफ्रेंस में राहुल गांधी से जब इस टिप्पणी को लेकर सवाल किया गया तो, उन्होंने कहा, “मैं गरीबों और मज़दूरों से बात कर के, उनके दिल में क्या है – समझने की कोशिश करता हूं। मुझे उनकी जानकारी से फ़ायदा मिलता है। मैं उनकी मदद करता रहता हूं।”

राहुल गांधी ने आगे कहा, “अगर वित्त मंत्री चाहती हैं तो मुझे अनुमति दें, मैं उत्तर प्रदेश चला जाऊंगा। मैं वहां पैदल ही निकल जाऊंगा और जितने लोग रास्ते में मिलेंगे, उनकी मदद करूंगा।” साथ ही राहुल गांधी ने बताया कि मज़दूरों से अपनी मुलाक़ात की डॉक्यूमेंट्री उन्होंने इसलिए रिलीज़ की, कि देश भर के लोग – उनकी व्यथा को, उनकी तक़लीफ़ को समझ सकें।

 

महाराष्ट्र में, राष्ट्रपति शासन को लेकर भाजपा की मांग पर जब उनसे ये पूछा गया कि क्या वो गुजरात में भी राष्ट्रपति शासन की मांग करेंगे। तो राहुल गांधी ने कहा कि राष्ट्रपति शासन का मतलब भी गुजरात में भाजपा की ही सरकार है, तो वहां बीजेपी से वहां का शासन लेकर – बीजेपी को सौंप देने का कोई मतलब नहीं है। इसके अलावा राहुल गांधी ने महाराष्ट्र को लेकर, भाजपा के आरोपों पर कहा कि बीजेपी महाराष्ट्र में सवाल पूछ रही है और उसे सक्रिय विपक्ष के तौर पर सवाल पूछना भी चाहिए, ये डेमोक्रेसी में उनका अधिकार है। 

प्रेस कांफ्रेंस की शुरुआत में ही राहुल गांधी ने कोरोना के ताजा आंकड़ों को लेकर, सरकार पर हमला करते हुए पूछा कि प्रधानमंत्री ने लॉकडाउन की घोषणा करते समय, दावा किया था कि हम 21 दिन में कोरोना को हरा देंगे। लेकिन ऐसा होने की जगह उल्टा हुआ, हम कोरोना के भयानक दौर में हैं और चौथे लॉकडाउन के बाद भी नए मामले बढ़ते जा रहे हैं। यानी कि लॉकडाउन पूरी तरह फेल हो गया है। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि अब सरकार बताए कि उसके पास कोरोना की रोकथाम और मज़दूरों के संकट के लिए आगे क्या रणनीति है?

राहुल गांधी की ये प्रेस कांफ्रेंस उस समय आई है, जब केंद्र की सरकार अपना 1 साल पूरा कर रही है। सरकार अपनी उपलब्धियों के प्रचार के लिए, भाजपा का वर्चुअल अभियान शुरु कर रही है। लेकिन राहुल गांधी ने पूछा है कि प्रधानमंत्री को जनता देखना चाहती है, तो वो सामने क्यों नहीं आ रहे हैं?


हमारी ख़बरें Telegram पर पाने के लिए हमारी ब्रॉडकास्ट सूची में, नीचे दिए गए लिंक के ज़रिए आप शामिल हो सकते हैं। ये एक आसान तरीका है, जिससे आप लगातार अपने मोबाइल पर हमारी ख़बरें पा सकते हैं।  

इस लिंक पर क्लिक करें

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.