Home प्रदेश उत्तर प्रदेश प्रियंका गाँधी का CM योगी को ख़त-“महिला अफसर की ख़ुदकुशी की जाँच...

प्रियंका गाँधी का CM योगी को ख़त-“महिला अफसर की ख़ुदकुशी की जाँच हो”

प्रियंका गांधी ने कहा कि “बलिया में तैनात पीसीएस अधिकारी मणि मंजरी राय के साथ अचानक घटी दुखद घटना से उनके परिजन परेशान हैं। परिजनों का कहना है कि इसकी पारदर्शी जांच होनी चाहिए। मैंने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखकर इसमें एक पारदर्शी जांच कर सभी तथ्यों को सामने लाने का निवेदन किया है। आशा है कि मणि मंजरी जी के परिजनों को न्याय मिलेगा।"

SHARE

 

कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने यूपी के बलिया में तैनात पीसीएस अफसर मणिमंजरी राय की खुदकुशी मामले में जांच की मांग की है। प्रियंका गांधी ने कहा कि मणिमंजरी राय के परिवार के लोग काफी परेशान हैं। इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए।

प्रियंका गांधी ने फेसबुक पर लिखा है कि “बलिया में तैनात पीसीएस अधिकारी मणि मंजरी राय के साथ अचानक घटी दुखद घटना से उनके परिजन परेशान हैं। परिजनों का कहना है कि इसकी पारदर्शी जांच होनी चाहिए।

मैंने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री जी को पत्र लिखकर इसमें एक पारदर्शी जांच कर सभी तथ्यों को सामने लाने का निवेदन किया है।

आशा है कि मणि मंजरी जी के परिजनों को न्याय मिलेगा।

बलिया में तैनात पीसीएस अधिकारी मणि मंजरी राय के साथ अचानक घटी दुखद घटना से उनके परिजन परेशान हैं। परिजनों का कहना है कि…

Posted by Priyanka Gandhi Vadra on Saturday, July 11, 2020

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे पत्र प्रियंका गांधी ने लिखा है कि “ मुख्यमंत्री महोदय, आपके संज्ञान में बलिया में घटी एक दुखद घटना जरूर आई होगी। एक युवा पीसीएस अधिकारी मणिमंजरी राय को हमने खो दिया। खबरों के अनुसार मणिमंजरी राय ने अपने विभाग व पूरी व्यवस्था की कार्यशैली पर कुछ गंभीर प्रश्न उठाए हैं।

समाने आए हुए तथ्यों से व्यवस्था में काफी गहरे तक फैले भ्रष्ट तंत्र की तरफ इशारा मिलता है। इस मामले की पारदर्शी और मजबती से जांच मणिमंजरी के परिवार और ईमानदारी से काम करने वाले सभी अधिकारियों को न्याय दिलाने के लिए अति आवश्यक है। कोई कितना भी रसूखदार व्यक्ति हो, किसी के कहीं भी संबंध हों लेकिन अगर इस मामले में दोषी हैं तो उसको सजा जरूर होनी चाहिए।

इसके पहले 8 जुलाई को भी प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा था कि “ बलिया में तैनात गाजीपुर निवासी युवा अधिकारी मणिमंजरी के बारे में दुखद समाचार मिला। खबरों के अनुसार उन्होंने प्रशासन की कार्यप्रणाली पर गंभीर सवाल उठाए थे।

मणिमंजरी के परिवार को न्याय मिले इसके लिए, सभी तथ्यों का सामने आना और निष्पक्ष जांच बहुत जरूरी है”।

बता दें कि तीस वर्षीय पीसीएस अधिकारी मणिमंजरी बलिया के मनियर नगर पंचायत में अधिशासी अधिकारी (ईओ) के पद पर तैनात थीं। बलिया के आवास विकास कालोनी में पंखे के हुक से लटकती उनकी लाश मिली थी। वहीं मणि मंजरी के भाई विजयानंद राय की तहरीर पर पुलिस ने मनियर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता, टैक्स लिपिक विनोद सिंह, ईओ संजय राव और कम्प्यूटर ऑपरेटर अखिलेश के अलावा दो अज्ञात पर आत्महत्या करने के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है।


 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.