Home प्रदेश उत्तर प्रदेश यूपी में क्राइम और कोरोना बेलगाम, शासन का इक़बाल ख़त्म- प्रियंका

यूपी में क्राइम और कोरोना बेलगाम, शासन का इक़बाल ख़त्म- प्रियंका

प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में कहा है कि "पिछले दिनों मैंने एक पत्र के माध्यम से प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं की तरफ आपका ध्यान आकृष्ट करने की कोशिश की थी। दिन दहाड़े आम लोगों के साथ घट रही आपराधिक घटनाओं के चलते प्रदेश के आमजनों के मन में एक डर का भाव बैठ गया है। उप्र में क्राइम और कोरोना दोनों बेलगाम हो चुके हैं। मैंने लोगों को कहते सुना है कि उप्र में अपहरण एक उद्योग बन चुका है और हत्या एक रोज़नामचा। लूट एवं बलात्कार की घटनाओं से प्रदेश दहल उठा है। यह सब सिर्फ एक चीज की तरफ इशारा करता है कि किसी न किसी कारण अपराधी बेखौफ़ हैं और शासन-प्रशासन का इक़बाल खत्म हो गया है।"

SHARE

कांग्रेस महासचिव और यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने प्रदेश में बढ़ते जंगलराज और कानून व्यवस्था की लचर हालत पर एक बार फिर सीएम योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर चिंता जाहिर की। प्रियंका गांधी ने संभल में रामौतार शर्मा की हत्या की घटना का उल्लेख करते हुए प्रदेश की बिगड़ चुकी कानून व्यवस्था को संज्ञान में लेने की अपील की। उन्होंने रामौतार शर्मा जी के हत्यारोपियों को पकड़ कर उनके परिवार को न्याय दिलाने व उनके परिवार को आर्थिक मदद करने की भी अपील की।

प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में कहा है कि “पिछले दिनों मैंने एक पत्र के माध्यम से प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं की तरफ आपका ध्यान आकृष्ट करने की कोशिश की थी। दिन दहाड़े आम लोगों के साथ घट रही आपराधिक घटनाओं के चलते प्रदेश के आमजनों के मन में एक डर का भाव बैठ गया है। उप्र में क्राइम और कोरोना दोनों बेलगाम हो चुके हैं।

मैंने लोगों को कहते सुना है कि उप्र में अपहरण एक उद्योग बन चुका है और हत्या एक रोज़नामचा। लूट एवं बलात्कार की घटनाओं से प्रदेश दहल उठा है। यह सब सिर्फ एक चीज की तरफ इशारा करता है कि किसी न किसी कारण अपराधी बेखौफ़ हैं और शासन-प्रशासन का इक़बाल खत्म हो गया है।”

प्रियंका गांधी ने कहा कि “मैं एक बार पुनः एक घटना के माध्यम से पूरे प्रदेश में कानून-व्यवस्था की लचर स्थिति की तरफ आपका ध्यान आकृष्ट करना चाहती हूँ। संभल जिले के चंदौसी में रहने वाले श्री रामौतार शर्मा जी इफ्को किसान सेवा केंद्र से सेवानिवृत्त थे और गाँव बिचेटा चौराहे पर एक खाद की दुकान चलाते थे। 30 जुलाई 2020 की शाम को दुकान से वापस जाते वक्त बदमाशों ने श्री रामौतार शर्मा जी व उनके बेटे पर गोली चलाई व उनके पैसे लूट लिए।

इस घटना में श्री रामौतार शर्मा की मृत्यु हो गई और उनके बेटे बाल-बाल बचे। इस घटना से पूरे क्षेत्र में रोष व्याप्त है।

कल रात ही बुलन्दशहर में अपहृत वकील श्री धर्मेंद्र चौधरी का शव मिला। प्रदेश में ऐसी घटनाओं का अम्बार लगा पड़ा है।”

प्रियंका गांधी ने कहा कि “मैं आपसे निवेदन करती हूँ कि जल्द से जल्द अपराधियों को पकड़ कर श्री रामौतार शर्मा जी के परिवार को न्याय दिलाने की कृपा करें। साथ ही साथ श्री रामौतार शर्मा जी के परिवार के लिए आर्थिक मदद की भी घोषणा करें।”

उन्होंने कहा कि “मुख्यमंत्री महोदय, मैं आपसे पुनः विनती करती हूँ कि बढ़ती अपराध की घटनाओं से उप्र में भय का माहौल है। आम जन, महिलाएँ, बच्चे, व्यापारी इत्यादि डर के साये में हैं। अतः कानून व्यवस्था को दुरुस्त करके इन घटनाओं पर अंकुश लगाने की कृपा करें।”

इसके पहले प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर यूपी की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि “उप्र में जंगलराज फैलता जा रहा है। क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर है। बुलंदशहर में श्री धर्मेन्द्र चौधरी जी का 8 दिन पहले अपहरण हुआ था। कल उनकी लाश मिली। कानपुर, गोरखपुर, बुलंदशहर। हर घटना में कानून व्यवस्था की सुस्ती है और जंगलराज के लक्षण हैं। पता नहीं सरकार कब तक सोएगी?”


 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.