Home ख़बर जामिया मिल्लिया में पुलिसिया कहर, छात्र ज़ख्मी, आक्रोश

जामिया मिल्लिया में पुलिसिया कहर, छात्र ज़ख्मी, आक्रोश

SHARE

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे जामिया मिलिया के छात्रों पर फिर से पुलिस का कहर टूटा है. पुलिस ने जामिया में घुसकर यूनिवर्सिटी का गेट बंद कर दिया फिर लाठीचार्ज किया. कई छात्र ज़ख्मी हुए हैं, एक की मौत की खबर भी आ रही है लेकिन मीडियाविजिल इसकी पुष्टि नहीं करता है

जामिया के चीफ प्रोक्टर ने बताया कि पुलिस बिना अनुमति कैम्पस में जबरन घुसी और स्टाफ और स्टूडेंट्स को मारा और उन्हें कैम्पस छोड़ने के लिए कहा.

जामिया के एक छात्र चन्दन कुमार जो मीडियाविजिल के लिखते रहे हैं, उन्हें पुलिस ने जमकर मारा है जिससे उनका सर फट गया है.

पुलिस ने छात्रों के साथ स्थानीय नागरिकों को भी मारा, यहां तक कि पत्रकारों को भी नहीं छोड़ा. बीबीसी पत्रकार बुशरा शेख ने कहा -“मैं बीबीसी की तरफ से जामिया कवर करने आई थी. पुलिस ने मेरा फोन छीनकर तोड़ दिया. मर्द पुलिसवाले ने मेरे बाल खींचे. पुलिस ने बैटन से मारा और मुझे गालियां दी. मैं यहां मज़े करने नहीं आई थी. मैं प्रदर्शन कवर करने आई थी.”

चन्दन ने मीडियाविजिल से फोन पर बात करते हुए बहुत धीमी आवाज में बताया कि वे लाइब्रेरी के बाथरूम में थे, पुलिस ने उन्हें वहां से निकाल कर मारा है. वे बोल पाने की स्थिति में नहीं थे।

Posted by Chandan Kumar on Sunday, December 15, 2019

करीब डेढ़ सौ से ज्यादा पुलिस वालों ने यूनिवर्सिटी में घुसकर गेट बंद कर दिया ताकि छात्र बाहर न भाग सकें, फिर कई आंसू गैस के गोले दागे.

Posted by Chandan Kumar on Sunday, December 15, 2019

जब छात्र भागने लगे तो पुलिस ने अंधाधुंध लाठीचार्ज किया.

छात्रों का आन्दोलन शांतिपूर्ण था.

March from Jamia to Batla house Zakir nagarJamia community against CAB & NRC#JamiaAgainstCab

Posted by AISA -Jamia Millia Islamia on Saturday, December 14, 2019

खबरों के अनुसार पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों के अलावा स्थानीय लोगों पर भी लाठीचार्ज किया है और आंसू गैस के गोले दागे हैं.

कुछ तस्वीरें आई हैं जिनमें बिना वर्दी के कुछ लोग भी डंडे से महिलाओं पर हमला कर रहे हैं.

कुछ लोगों का कहना है कि छात्र शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर रहे थे, तभी कुछ बाहरी लोगों ने आकर बसों में आग लगा दी ताकि पुलिस को लाठीचार्ज करने का बहाना मिल जाए.

छात्रों और नागरिकों में भयंकर आक्रोश के मद्देनजर अब से कुछ देर में रात नौ बजे दिल्ली पुलिस मुख्यालय पर प्रदर्शन का आह्वान किया गया है।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.