Home ख़बर पायल तडवी आत्महत्या केस : पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हत्या का...

पायल तडवी आत्महत्या केस : पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद हत्या का संदेह!

SHARE

मुंबई के बीवाईएल नायर अस्पताल से गायनोकोलॉजी (स्त्रीरोग) की पढ़ाई करने वाली दूसरे वर्ष की छात्रा पायल तड़वी की आत्महत्या केस में पोस्टमार्टम रिपोर्ट से नया मोड़ आ गया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उसकी गर्दन पर चोट के निशान मिले हैं. रिपोर्ट में मौत की प्रारंभिक वजह गर्दन पर मिले चोट के निशान बताया गया है. इस मामले को अब मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया है.

तड़वी के परिवार का कहना है कि इसे हत्या के तौर पर देखा जाए.पीड़िता के वकील नितिन सतपुटे का कहना है कि पायल की मौत की परिस्थिति और शरीर पर मिले चोट के निशान से हम यह कह सकते हैं कि यह हत्या का मामला है आत्महत्या का नहीं. इसीलिए पुलिस को इस मामले की जांच हत्या के तौर पर करनी चाहिए.

इस मामले में आरोपी तीन सीनियर महिला डॉक्टर भक्ति मेहेरे, हेमा आहूजा और अंकिता खंडेलवाल को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. मेहेरे को मंगलवार को ही गिरफ्तार कर लिया गया था जबकि आहूजा और खंडेलवाल को बुधवार की सुबह पुणे से गिरफ्तार किया गया.बुधवार की सुबह सभी तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उन्हें 31 मई तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया है.

इससे पहले, मंगलवार को तडवी के माता-पिता ने अस्पताल के बाहर प्रदर्शन किया था. अन्य प्रदर्शनकारी भी उसकी मां आबिदा और मृतका के पति सलमान के साथ प्रदर्शन में शामिल हुए और तीनों डॉक्टरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की.

वहीं आरोपियों के वकील ने अदालत में आत्महत्या के लिए उकसाने की बात को खारिज करते हुए कहा कि तीनों को तड़वी की जाति का पता नहीं था और यह केवल तड़वी की मां के बयान के आधार पर है और कोई भी सबूत इसका समर्थन नहीं करता है.

 

मुंबई के बीवाईएल नायर अस्पताल से गायनोकोलॉजी की पढ़ाई करने वाली दूसरे वर्ष की छात्रा पायल तडवी द्वारा जातिवादी टिप्पणियों और अन्य सीनियर्स द्वारा किए जा रहे अन्य तरह के उत्पीड़नों से तंग आकर 22 मई को आत्महत्या करने का मामला सामने आया था.

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.