Home प्रदेश उत्तर प्रदेश सोनभद्र: होलिका दहन की रात एक और मुस्लिम ‘लिंच’, संघ की शाखा...

सोनभद्र: होलिका दहन की रात एक और मुस्लिम ‘लिंच’, संघ की शाखा लगाता है मुख्‍य आरोपी आदिवासी टीचर

SHARE

प्रभात कुमार / सोनभद्र

सोनभद्र जिले में ओबरा थाना के अंतर्गत आने वाले ग्राम पारसोई में होलिका दहन की रात कोई बीस व्‍यक्तियों ने मिलकर मोहम्‍मद अनवर नाम के एक बुजुर्ग को लाठी डंडे से मारकर ज़ख्‍मी किया और फिर कुल्‍हाड़ी से काट डाला। अनवर एक दिन पहले ही अजमेर शरीफ़ से जि़यारत कर के लौटे थे और 20 मार्च की रात उन्‍हें मार दिया गया। एफआइआर में 20 आरोपियों के नाम दर्ज हैं जिनमें मुख्‍य आरोपी जनजातीय समुदाय से आने वाला एक स्‍कूली शिक्षक रवींद्र खरवार है जो वहां कुछ दिनों से संघ की शाखा चला रहा था।

मध्‍यप्रदेश की सीमा से लगे ओबरा थानांतर्गत पारसोई गांव में मुहर्रम चबूतरे को लेकर कुछ महीनों से एक विवाद को जन्‍म दिया जा रहा था जिसकी परिणति हत्‍या में हुई। परसोई गांव में अनवर अली के घर के पास इमाम चौक बना हुआ है जिसको लेकर आये दिन बीटीसी कॉलेज के लोगों से विवाद होता था। मृतक के लड़के मोहम्‍मद हस्‍नैन ने बताया कि पांच माह पहले भी इमाम चौक को लेकर विवाद हुआ था जिसकी सूचना पुलिस को दी गई थी जिस पर आश्वासन मिला था कि अब झगड़ा नही होगा लेकिन ‘’आज मेरे पिता जी को लोगो ने गमछे से बाध कर कुल्हाड़ी से काट कर हत्या कर दी।‘’

Md. Hasnain, S/o deceased Anwar Ali

इस घटना की जानकारी होने पर पुलिस महकमा में हडकम्प मच गया और मौके पर पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल समेत अन्य आला अधिकारी पहुंच गए। मौके पर पहुचे पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ओबरा थाना इलाके के पारसोइ गांव की घटना है। रात करीब 1 बजे पुलिस को सूचना मिली कि मोहम्मद अनवर (पुत्र मोहम्मद जब्बार, 60 वर्ष) को गम्भीर चोट लगी है जिन्हें अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

इस सम्बंध में मृतक के बेटे की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। यह घटना ताजिया रखने वाले स्थान (इमाम चौक) को लेकर है। इस चबूतरे को लेकर कुछ माह पहले पड़ोस के राजेश प्रजापति से विवाद हुआ था जिसमे पुलिस ने हिदायत भी दिया था कि भविष्य में इस तरह की घटना न हों।

20 मार्च की आधी रात कुछ लोग इसी चबूतरे को तोड़ रहे थे जिसे घर से टहलने निकले अनवर ने देखा तो उन्हें रोकने का प्रयास किया। लोगो ने हमला कर दिया जिसमें उसकी मौत हो गई।

SP Sonbhadra Salman Taj

मृतक के परिजनों का कहना है कि गांव में ताजिया रखने का चबूतरा बना है जिसे इमाम चौक भी कहते हैं। पिछले 15-20 वर्षों से यहां ताजिया रखी जाती थी और हिन्दू मुस्लिम मिलकर ताजिया उठाते थे और लाठी भी भांजते थे। पिछले छह माह के दौरान जूनियर हाईस्कूल के सरकारी अध्यापक रविंद्र खरवार वहां संघ की शाखा लगाने लगे और चबूतरे पर कब्जा करने के चक्कर मे पड़ गए। इसको लेकर डेढ़ माह पहले विवाद हुआ था जिसमे एसडीएम और पुलिस पहुच कर समझौता कराया था।

Naeem Ghazipuri: Brother of deceased

ख़बर लिखे जाने तक इलाके में शाति है। पीएसी तैनात कर दी गई है। क्षेत्र के निवासी वरिष्‍ठ पत्रकार आवेश तिवारी जो रायपुर पत्रिका में काम करते हैं, उन्‍होंने फोन पर बताया कि इस आदिवासी इलाके में कभी भी कोई सांप्रदायिक घटना नहीं हुई। आदिवासी और मुसलमान मिलजुल कर रहते थे। तिवारी ने बताया, ‘’पहली बार यहां संघ की शाखा लगनी शुरू हुई जिसका नतीजा एक बेगुनाह मुसलमान की हत्‍या के रूप में सामने आया है।‘’

उन्‍होंने पुलिस विभाग की सराहना करते हुए कहा कि पहली बार एफआइआर में संघ की शाखा का बाकायदे जिक्र किया गया है, हालांकि उन्‍होंने आशंका जाहिर की कि शायद ही कोई दैनिक इस बात को प्रमुखता से सामने लाएगा कि हत्‍या की असल पृष्‍ठभूमि क्‍या है।

(ओबरा से आवेश तिवारी के साथ)

4 COMMENTS

  1. Supplemental income can assist in making ends meet in tough economic occasions when. Millions of people want financial negotiation. If you have
    been thinking about earning some more money by trading on his
    or her Forex market, the information in the article can allow.

    Keep you Forex software system simple. Don’t have great deal information stored on your
    screen – it will for sure confuse as well as make likely to to enter/exit a trade a significant amount harder.

    Forex traders get a tremendous advantage over shares and
    stocks through 24 hours a day to vocation. But in case of stock flip
    it is only for 6 to 7 years. Forex traders are in order to exit or make brand new
    trade at any time. Traders can respond to your big or breaking news spontaneously and P
    as the average trading volume is 50 to 60 times larger than most on the stock swapping.

    Trading currencies requires may develop a design of risk management.
    Necessary to know the true chance of each trade as it applies to both the marketplace
    in general and to you in type of.

    The forex training acquire should commence
    with learning your foreign trade market gets results. The trade market is always changing, so you need to comprehend it first.
    The second part ought to about risk control. To become want make investments more than you
    are. With the right training should learn how to decrease your losses and
    have less risks of failure. Lastly, your training should an individual
    how to read and run a live22 bet. But this should be done by using a demo account at main.

    My recommendation is to purchase a “Hero” to contribute credit to install the Forex exchange market using a knowledgeable person Advisor.
    May possibly even obtain a group of “Heros” together for
    this purpose. Once the success is established as well as the word gets
    out, people will probably prefer to be “Hero” investors rather than run on the mill contributing factors.

    The huge difference is that a regular contribution gets consumed and that’s the end of the game.
    A “Hero” contribution sits there exactly like little robot continuing to create residual cash
    flow, can be every fundraisers dream.

    The last and possibly most important step
    for that new trader is to find a proven automated program. By using a system,
    you can merely follow indicators which a person when spot your trades and if
    you close these phones make an income. There are many different signal services, Forex EAs & programs out there but let’s be honest,
    you want the a trainer who is the most accurate several profitable. https://camani.com.br/smf/index.php?action=profile;u=42473

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.