Home ख़बर CAA: जामिया में पुलिसिया कार्रवाई के नये वीडियो जारी, विपक्ष ने सरकार...

CAA: जामिया में पुलिसिया कार्रवाई के नये वीडियो जारी, विपक्ष ने सरकार को घेरा

SHARE
फाइल फोटो

जामिया मिलिया इस्लामिया की लाइब्रेरी में पिछले साल 15 दिसंबर को पुलिस द्वारा छात्रों पर लाठीचार्ज के कुछ और वीडियो सामने आये हैं. वीडियो में सुरक्षाबल डंडों से छात्रों को पीटते हुए दिख रहे हैं. बताया गया कि वीडियो जामिया की लाइब्रेरी का है जहां छात्र पढ़ रहे थे और सुरक्षाबल अचानक से घुसकर छात्रों को पीट रहे हैं. वीडियो वायरल हो गया. इस वीडियो को भी  15 दिसंबर का बताया गया है.

मक्तूब मीडिया का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वीडियो में सुरक्षा बलों को दरवाजा तोड़कर रीडिंग हाल में घुसकर छात्रों को घेर कर मारते देखा जा सकता है. इस वीडियो को कई जाने-मने पत्रकारों ने भी सोशल मीडिया पर साझा किया है.

हालांकि जामिया प्रशासन का कहना है कि ये वीडियो उनकी ओर से जारी नहीं किए गये हैं. वहीं जामिया में पिछले साल 15 दिसंबर को हुई बर्बरता से जुड़ा एक वीडियो कल सामने आने के बाद दो और नए वीडियो सामने आए. एक वीडियो में एक पुलिस जवान सीसीटीवी कैमरा तोड़ने की कोशिश करता दिखाई दे रहा है.

पहले वीडियो में जहां सुरक्षाबल लाइब्रेरी में मौजूद छात्रों पर डंडे बरसाते नजर आए तो वहीं दूसरे और तीसरे वीडियो में कुछ छात्र लाइब्रेरी में घुसते हुए दिखाई दे रहे हैं. इनके हाथ में पत्थर भी हैं.

इस पर दिल्ली के पूर्व उपराज्यपाल नज़ीव जंग ने कहा कि पुलिस को इसकी जाँच करनी चाहिए, साथ ही उन्होंने कहा कि छात्रों का लाइब्रेरी में पत्थर लेकर घुसना भी निंदनीय है.

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून पारित होने के तुरंत बाद जामिया मिलिया इस्‍लामिया के स्‍टूडेंट्स ने इसके विरोध में प्रदर्शन किया था.  इसके बाद दिल्‍ली पुलिस ने उपद्रवियों पर लाठी चार्ज किया था. उस समय पुलिस पर आरोप लगाया गया था कि उसने जामिया की लाइब्रेरी में बैठे विद्यार्थियों के साथ बर्बरता की थी. साथ ही पुलिस पर लाइब्रेरी में घुसकर तोड़फोड़ का भी आरोप लगाया गया था. पुलिस ने सफाई में कहा था कि छात्रों पर हल्‍का बल प्रयोग किया गया था.

अब इन वीडियो के सामने आने के बाद  पुलिस के एक्शन पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. कांग्रेस नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री  कपिल सिब्बल ने दिल्ली पुलिस, लोकतंत्र की स्थिति पर सवाल खड़े किए हैं.उन्होंने कविता ट्वीट किया है .

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी ये वीडियो शेयर करते हुए दिल्ली पुलिस और गृहमंत्री को निशाने पर लिया है. उन्होंने ट्वीटकर लिखा- ‘देखिए कैसे दिल्ली पुलिस पढ़ने वाले छात्रों को अंधाधुंध पीट रही है. एक लड़का किताब दिखा रहा है, लेकिन पुलिस वाला लाठियां चलाए जा रहा है. गृह मंत्री और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने झूठ बोला कि उन्होंने लाइब्रेरी में घुस कर किसी को नहीं पीटा.’

उन्होंने आगे लिखा कि इस वीडियो को देखने के बाद जामिया में हुई हिंसा को लेकर अगर किसी पर एक्शन नहीं लिया जाता तो सरकर की नीयत पूरी तरह से देश के सामने आ जाएगी.

 

 

 

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.