Home ख़बर AMU में नारेबाज़ी वाला मूल वीडियो क्या BJP कार्यालय में एडिट किया...

AMU में नारेबाज़ी वाला मूल वीडियो क्या BJP कार्यालय में एडिट किया गया?

SHARE

अलीगढ़ मुस्लिम युनिवर्सिटी में इतवार की रात पुलिस द्वारा छात्रों पर किए गए बर्बर दमन के बीच एक वीडियो भाजपा के आइटी सेल के मुखिया अमित मालवीय और भाजपा के अन्य नेताओं ने वायरल किया जिसमें छात्रों को “हिंदुओं की कब्र खुदेगी…” का नारा लगाते हुए देखा जा रहा है। यह वीडियो संपादित और फर्जी है। 

मूल वीडियो 12 दिसंबर का है जिसमें अलीगढ़ के छात्र कुछ और नारे लगा रहे हैं। पहले वह वीडियो देखें जो 12 दिसंबर को आया था। इसमें जो नारे लगे थे वे कुछ यूं थे− “हिंदुत्व की कब्र खुदेगी, AMU की छाती पर, सावरकर की कब्र खुदेगी, AMU की छाती पर, ये बीजेपी की कब्र खुदेगी, AMU की छाती पर, ब्राह्मणवाद की कब्र खुदेगी, AMU की छाती पर, ये जातिवाद की कब्र…।”

इस वीडियो को जूम इन कर के, इसके आँडियो में तब्दीली कर के इसे इतवार की रात फिर से भाजपा के लोगों द्वारा पोस्ट कर के वायरल करवाया गया। इसकी जांच आल्ट न्यूज़ ने तफ़सील से की है और इस बात की पुष्टि की है कि भाजपा की IT सेल के मुखिया अमित मालवीय, यूपी भाजपा के प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी, दिल्ली बीजेपी के प्रवक्ता तेजिंदर बग्गा आदि द्वारा डाला गया वीडियो फर्जी और संपादित है।

आम तौर से भाजपा दफ्तर के भीतर की खबरें जारी करने वाले एक अपुष्ट लेकिन लोकप्रिय ट्विटर हैंडिल बीजेपी इनसाइडर ने काफी दिनों बाद सोमवार की सुबह एक ट्वीट कर के दिलचस्प जानकारी दी है कि नारेबाज़ी वाला एएमयू का यह वीडियो भाजपा के केंद्रीय दफ्तर में ही एडिट किया गया था। मीडियाविजिल हालांकि इसकी अपने स्रोतों से पुष्टि नहीं करता है।

इतना तो तय है कि 12 दिसंबर और इतवार की रात जारी किए गए दोनों वीडियो का मिलान करने पर साफ़ पता चलता है कि भाजपा के आइटी सेल और अन्य नेताओं के जारी किए वीडियो एडिट किए हुए हैं। सवाल बस इतना है कि क्या ये वीडियो खुद भाजपा के दिल्ली स्थित केंद्रीय कार्यालय में छेड़े गए?

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.