Home ख़बर मोदी के क्योटो में गिर गया फ्लाईओवर, बड़ी तबाही, पचास से ज्यादा...

मोदी के क्योटो में गिर गया फ्लाईओवर, बड़ी तबाही, पचास से ज्यादा की मौत की आशंका

SHARE
25 की मौत की पुष्टि मुख्यमंत्री कर चुके
बीएचयू ट्रामा सेंटर, रेलवे हास्पिटल, शिव प्रसाद गुप्त मंडलीय हास्पिटल कबीरचौरा, दीनदयाल उपाध्याय जिला अस्पताल में घायलों को कराया गया है भर्ती
वाराणसी कैंट स्टेशन इंग्लिशिया लाइन के पास फ्लाईओवर के टूटने के बाद अभी तक शिवप्रसाद मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा में 6 शव आए हैं जिसमें एक महिला का भी शव है जो अस्पताल में ही पड़ा हुआ है
एक महिला समेत छह लोग अस्पताल पहुचे, सभी की मौत हो चुकी है। किसी की अभी तक शिनाख्त भी नहीं हुई
मृतक के परिवारों को 5 लाख और घायलों को 2 लाख रुपये मुआवजे का एलान
कुल 7741.47 लाख की लागत से बन रहा है फ्लाईओवर
सेतु निगम पर घटिया निर्माण सामग्री लगाने का आरोप
अक्टूबर 2018 में पूरा होना था पूल का निर्माण
उत्तर प्रदेश सेतु निर्माण निगम करा रहा था निर्माण
बीएचयू ट्रामा सेंटर में दो घायल में संजय कुमार गाजीपुर की मौत और एक घायल राजेश भास्कर (नक्खीघाट, वाराणसी) का इलाज जारी

शिव दास / मौके से 

वाराणसी : कैंट रेलवे स्टेशन के पास महीनों से बन रहा ओवरब्रिज का एक बड़ा हिस्सा मंगलवार शाम को अचानक जमीन पर आ गिरा। ओवर ब्रिज का हिस्सा जमीन पर गिरते ही नीचे मौजूद कई लोग इसके मलबे में दब गए। ओवरब्रिज का पिलर गिरने के बाद चीख पुकार मच गई और अफरातफरी की स्थिति मौके पर हो गई। इस दौरान भागादौड़ी और जान बचाने की कोशिश में कई लोग इस दौरान गिरकर घायल भी हो गए। काफी भीड़ भरे क्षेत्र में अचानक हुए इस हादसे में भगदड़ मचने के बाद मौके पर पुलिस कर्मियों ने मोर्चा संभाला और लोगों को सुरक्षित करने के प्रयास में जुट गए।

हादसे की गंभीरता को देखते हुए स्थानीय नागरिक भी सहयोग में आगे आए और ओवरब्रिज गिरने के बाद नीचे फंसे वाहन और उसमें मौजूद लोगों को बचाने की कोशिश करने लगे। हालांकि नीचे दर्जनों लोगों के फंसे होने की सूचना के बाद उनको बचाने की कोशिश की जा रही है मगर कई के मरने का अंदेशा भी स्थानीय लोगों की ओर से जतायी गई है। भीड़ भरा इलाका होने की वजह से प्रशासन भी लोगों को बचाने के लिए मौके पर पहुंच रहा है साथ ही आपदा राहत बल को भी सूचना दे दी गई है।

सिगरा थाना अंतर्गत लहरतारा पुल के समीप बन रहे नए ओवर ब्रिज का एक भारी भरकम सीमेंटेड पिलर ऊपर चढ़ाते समय अचानक बैलेंस बिगड़ने से सड़क पर जा गिरा जिसके चलते उसकी चपेट में आकर एक सिटी बस, कार व ऑटो बाइक सवार नीचे दब गए। सूचना पाकर SP सिटी दिनेश कुमार सिंह कई थानों की फोर्स  मौके पर पहुंच गए। बचाव एवं राहत कार्य शुरू कराया गया मौके पर एक क्रेन के अलावा JCB तथा अन्य संसाधन मंगाए गए हैं। कई लोगों के मरने की अपुष्ट खबरें भी मिल रही हैं। मौके पर अफरा-तफरी का माहौल।

बनारस हादसे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- “इस हादसे पर मैं दुख व्यक्त करता हूं. मृतकों और घायलों के परिवारों के प्रति हमारी संवेदना है. 48 घंटे में जांच कर दोषियों पर कार्रवाई होगी।”

स्लैब (साइडा) का मलबा हटाने आधा दर्जन से ज्यादा क्रेन पहुँची। कुछ घायल निकाले गये। अभी स्लैब पूरी तरह से नही हटा। बीएचयू ट्रामा सेंटर में घायल मरीजों को ब्लड डोनेट करने के लिए बीएचयू के छात्र सैकड़ों की संख्या में पहुंचे ट्रामा सेंटर।