Home Corona प्रवासी श्रमिकों के लिए कांग्रेस करोड़ों खर्च कर रही है, भाजपा बताए...

प्रवासी श्रमिकों के लिए कांग्रेस करोड़ों खर्च कर रही है, भाजपा बताए उसने क्या किया?- कांग्रेस

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मीडिया विजिल की ओर से मयंक सक्सेना के एक सवाल के जवाब में कहा कि कांग्रेस पार्टी प्रवासी श्रमिकों के लिए करोड़ों खर्च कर रही है लेकिन भारतीय जनता पार्टी, जो देश की सबसे अमीर पार्टी है - उसने प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए कितना फंड दिया है? पढ़िए पूरी रिपोर्ट

SHARE

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने आज कांग्रेस की प्रेस कांफ्रेंस में भारतीय जनता पार्टी से तीख़ा सवाल करते हुए पूछा है कि बीजेपी बताए कि उसने एक पार्टी के तौर पर प्रवासी श्रमिकों के लिए क्या किया है? सुरजेवाला ने ये बात, मीडिया विजिल की ओर से मयंक सक्सेना के एक सवाल के जवाब में कही, जिसमें उन्होंने पूछा था कि क्या कांग्रेस पार्टी – कांग्रेस प्रशासित राज्यों के उन मज़दूरों के लिए भी बस सेवा चलाएगी, जो दूसरे राज्यों में फंसे हुए हैं?

इसके जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता ने रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस ने केवल यूपी के लिए 1000 बसों का इंतज़ाम ही नहीं किया है, बल्कि पहले ही कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने प्रवासी श्रमिकों के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन का किराया पार्टी की ओर से देने का एलान कर दिया था। इसके अलावा पार्टी ये हिसाब भी दे सकती है कि कांग्रेस की किस प्रदेश कमेटी ने प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए कितना आर्थिक योगदान दिया है। इसी सवाल के जवाब में सुरजेवाला ने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा, “भारतीय जनता पार्टी, जो देश की सबसे अमीर पार्टी है – उसने प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए कितना फंड दिया है? क्या ये सवाल वर्तमान अध्यक्ष जेपी नड्डा और पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान गृहमंत्री अमित शाह से भी पूछा जाएगा कि उन्होंने प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए कितने पैसे दिए हैं। रेल मंत्रालय ने इन सबका किराया मुफ्त क्यों नहीं किया? इन दो बातों का भी जवाब लगे हाथ प्रधानमंत्री जी से पूछ लीजिए..”

मीडिया विजिल के ही सवाल के जवाब में कांग्रेस के गुजरात प्रभारी राजीव साटव ने आगे जोड़ा, ” हर प्रदेश में हमारी तरफ से मुख्य सचिव को पत्र लिखा गया है। रेलवे के जनरल मैनेजर को लिखा गया है और जो-जो ट्रेन का किराया, जहाँ-जहाँ लगता है, जितना लगता है, वो वहन करने के लिए हम लोग तैयार हैं। हर राज्य में हमने ये किया है, लेकिन न रेलमंत्री, न रेल मंत्रालय से हमें और नहीं ही सरकार ने इसमें कोई सहयोग या उत्तर दिया है। इससे साफ दिखाई देता है कि हजारों-लाखों श्रमिकों को कभी कोई राहत मिले, ये सरकार की दूर-दूर तक कोई मंशा नहीं है और खासतौर से उत्तर प्रदेश की सरकार जिस प्रकार से विफल रही है, ये पूरे देश में विफलता का एक उदाहरण है”

इसके अलावा इस प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी के वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला भी मौजूद थे, उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह की प्रेस कांफ्रेंस और कांग्रेस के ऊपर बसों के ग़लत क़ाग़ज़ लगाने के आरोपों पर राजीव शुक्ला ने कहा, “अलग से रजिस्ट्रेशन के क़ाग़ज़ मांगने की ज़रूरत क्या है? जब सामने बसें खड़ी हैं, आप क़ाग़ज़ चेक कर के बसों को ले जाइए। बसें दे रहे हैं, आप रजिस्ट्रेशन और कागज के झंझट में पड़े हैं, आप उन बसों का रजिस्ट्रेशन वहीं चैक करो और उनको परमिशन दो। सिर्फ इस बात के लिए प्रेस कांफ्रेंस की गई है कि क्या रजिस्ट्रेशन है, टू व्हीलर का, थ्री व्हीलर का। आप कोई भी कागज बना सकते हैं, वो तो बाद में वैरीफाई होगा। अभी जो बसें खड़ी हैं, उनको ले जाइए। अगर हम बसें नहीं दिखाते और कहते कि रजिस्ट्रेशन है, सूची हमने दे दी, तब तो आप ये सवाल उठा सकते थे।”

उधर ये ख़बर लिखे जाने तक भी कांग्रेस के कार्यकर्ता, बसों के साथ यूपी और राजस्थान की सीमा पर आगरा में डटे हुए थे। इस बीच कांग्रेस के यूपी अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को पुलिस ने विरोध और धरना करते समय हिरासत में ले लिया। अब बुधवार को ये मामला क्या रुख लेगा, इसका इंतज़ार है – हालांकि ये मामला रात को 3 बजे भी ट्विस्ट ले रहा है।


हमारी ख़बरें Telegram पर पाने के लिए हमारी ब्रॉडकास्ट सूची में, नीचे दिए गए लिंक के ज़रिए आप शामिल हो सकते हैं। ये एक आसान तरीका है, जिससे आप लगातार अपने मोबाइल पर हमारी ख़बरें पा सकते हैं।  

इस लिंक पर क्लिक करें

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.