Home ख़बर भीमा कोरेगांवः कभी भी गिरफ्तार हो सकते हैं गौतम नवलखा, अग्रिम ज़मानत...

भीमा कोरेगांवः कभी भी गिरफ्तार हो सकते हैं गौतम नवलखा, अग्रिम ज़मानत याचिका खारिज

SHARE

मानवाधिकार कार्यकर्ता और इकनॉमिक एंड पॉलिटिकल वीकली के पूर्व सलाहकार संपादक गौतम नवलखा की गिरफ्तारी अब कभी भी हो सकती है। पुणे की सत्र अदालत ने उनकी अग्रिम ज़मानत की याचिका खारिज कर दी है। 

पुणे की सत्र अदालत में गौतम ने अग्रिम जमानत की याचिका लगायी थी। बीते 7 नवंबर को अदालत ने याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा था और गौतम नवलखा की गिरफ्तारी को रोके रखा था। मंगलवार को याचिका खारिज कर दी गसी। अब गिरफ्तारी आसन्न है।

मामला भीमा कोरेगांव की हिंसा के संबंध में दायर एफआइआर के सिलसिले में चली जांच का है जिसके अंतर्गत पिछले साल कुछ मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और वकीलों को पकड़ा गया था। गौतम अकेले थे जो अब तक गिरफ्तारी से बचे हुए थे।

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.