Home मोर्चा परिसर Exclusive: BHU की स्वायत्तता ने छात्रों से छीना छात्रावास, अतिथिगृहों की दरों...

Exclusive: BHU की स्वायत्तता ने छात्रों से छीना छात्रावास, अतिथिगृहों की दरों में 7000 गुना बढ़ोतरी

SHARE
शिव दास

वाराणसी। सर्व विद्या की राजधानी काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में मानव संसाधन विकास मंत्रालय के स्वायत्तता सम्बन्धी आदेश का असर दिखाई देने लगा है। नवनियुक्त कुलपति ने छात्रों से डॉ. शांति स्वरूप भटनागर छात्रावास को छीनकर उसे विश्वविद्यालय के अतिथिगृहों का हिस्सा बना दिया है जो अब डॉ. शांति स्वरूप भटनागर अतिथिगृह के नाम से जाना जाएगा। साथ ही विश्वविद्यालय प्रशासन ने अपने सभी अतिथिगृहों की सुविधाओं की दरों में दो गुना से लेकर सात हजार गुना तक की बढ़ोतरी कर दी है जिसमें प्रशासनिक और शैक्षिक कार्यों को भी शामिल किया गया है।

नवनियुक्त कुलपति प्रो. राकेश भटनागर के आदेश पर विश्वविद्यालय के सहायक कुल-सचिव (सामान्य प्रशासन) ने गत 7 अप्रैल को संबंधित अधिकारियों को अधिसूचना जारी कर सूचना दी कि डॉ. शांति स्वरूप भटनागर छात्रावास अब विश्वविद्यालय के अतिथिगृहों का हिस्सा है जिसे डॉ. शांति स्वरूप भटनागर अतिथिगृह के नाम से जाना जाएगा। 32 कक्षों वाले इस नये अतिथिगृह की सुविधाओं की दरों का निर्धारण पर कर दिया गया है। इस अतिथिगृह में विभागीय कार्यों के लिए दो शयनकक्षों की मासिक दर 4000 रुपये से बढ़ाकर 8000 रुपये कर दी गई है जबकि सभागार की बुकिंग की दर 1200 रुपये से बढ़ाकर 1500 रुपये कर दी गई है। हालांकि गैर-विभागीय कार्यों के लिए पहले की तरह कोई शुल्क नहीं लगाया गया है।

बता दें कि विश्वविद्यालय में शोध छात्रों समेत हजारों छात्रों ने छात्रावास आवंटन का आवेदन कर रखा है लेकिन शैक्षिक-सत्र गुजरने के बाद भी उन्हें अभी तक छात्रावास आवंटित नहीं किया गया है। वे विश्वविद्यालय के बाहर किराये पर रहकर पढ़ाई कर रहे हैं लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन उन्हें आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने की जगह छात्रावास को अतिथिगृह में तब्दील कर रहा है जो हैरत करने वाला है।

वहीं विश्वविद्यालय परिसर स्थित एलडी गेस्ट हाउस एनेक्सी, एलडी गेस्ट हाउस, यूनिवर्सिटी गेस्ट हाउस और फैकल्टी गेस्ट हाउस की सुविधाओं की दरों में दोगुना से 7000 गुना तक बढ़ोतरी की गई है। इनमें विभागीय बुकिंग भी शामिल है। विश्वविद्यालय की नई अधिसूचना के मुताबिक एलडी गेस्ट हाउस एनेक्सी के मीटिंग हाल की गैर-विभागीय बुकिंग के लिए अब 7000 रुपये देने होंगे जबकि विभागीय बुकिंग के लिए इसकी दर 5000 रुपये तय की गई है। पहले इसकी बुकिंग के लिए कोई शुल्क नहीं लगता था। इस अतिथिगृह में सिंगल सूट की बुकिंग के लिए नई दर 3000 रुपये कर दी गई है।

विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से जारी अधिसूचना में अतिथिगृहों की सुविधाओं की बुकिंग निर्धारित दर की पूरी रकम जमा करने के बाद ही होगी। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय प्रशासन की ओर से जारी नयी अधिसूचना में अतिथिगृहों की निम्न दर निर्धारित की गई है।

1 COMMENT

  1. भाई शांतिस्वरूप भटनागर कभी छात्रों को आवंटित नही किया गया। इसका नाम भले ही छात्रावास हो पर ये पिछले 6 साल जबसे बना है गेस्ट हाउस का ही हिस्सा रहा है। इसका नाम छात्रावास सिर्फ इसलिए है कि ये कांफ्रेंस सेमिनार के लिए छात्रों को दिया जाता है

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.