Home मीडिया महाराष्ट्र: रातोरात रद्दी हो गए अख़बार, सूंघ तक न पाए बड़े-बड़े पत्रकार

महाराष्ट्र: रातोरात रद्दी हो गए अख़बार, सूंघ तक न पाए बड़े-बड़े पत्रकार

SHARE

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक वाक्य चर्चित है- पेट्रोल के दाम कम हुए कि नहीं, डीजल के दाम कम हुए कि नहीं? ठीक इसी तरह का एक सवाल आज सुबह अख़बार पढ़ने के बाद सबके मन में उठा होगा- महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस मुख्यमंत्री बन गए, पता चला कि नहीं?

आज तमाम अख़बारों के पहले पन्ने पर महाराष्ट्र में एनसीपी, शिवसेना और कांग्रेस की सरकार बनने और उद्धव ठाकरे के मुख्यमंत्री बनने की खबर छपी है। पर सुबह लोग जब चाय की चुस्की लेते हुए अख़बार पढ़ रहे थे ठीक उस वक्त टीवी और ट्वीटर पर देवेन्द्र फणनवीस के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने का लाइव प्रसारण और ट्वीट आ रहे थे।

इतिहास में पहले कभी ऐसा हुआ है या नहीं यह पता नहीं। किन्तु आज की यह घटना इतिहास में जरूर दर्ज़ हो गया। लोग सुबह उठ कर अख़बार के पहले पेज पर किसी अन्य गठबंधन की सरकार और मुख्यमंत्री बनने की खबर पढ़ रहे थे और उधर राज्यपाल किसी और को मुख्यमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ दिला रहे थे।

जो होना था वो तो अब हो गया, अख़बार की सुबह की खबर अब रद्दी हो गई। किन्तु यहां एक सवाल बनता है कि अख़बार, मीडिया के सूत्रों, रिपोर्टरों और बेडरूम से लेकर बाथरूम तक घुसकर खबर लाने वाले, स्टिंग करने वाले पत्रकारों को आज सुबह होने वाली इस हैरान कर देने वाली घटना की भनक तक कैसे नहीं लगी ?

LEAVE A REPLY

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.